*पहले चरण के मतदान के बाद कलेक्टर ने दूसरे चरण को लेकर दिए दिशा निर्देश

बड़वानी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन के प्रथम चरण का मतदान विकासखंड पानसेमल व सेंधवा में शांतिपूर्ण तरीके से संपन्ना हुआ। उसके लिए सभी अधिकारी -कर्मचारियों की संयुक्त मेहनत रही। प्रथम चरण के मतदान से हमें बहुत कुछ सीखने की जरूरत है, जिससे मतदान और मतगणना के कार्य को जल्दी पूर्ण किया जा सके।

कलेक्टर शिवराजसिंह वर्मा ने यह बात समय सीमा की बैठक के दौरान अधिकारियों और कर्मचारियों से कही। उन्होंने चुनाव आयोग की गाइडलाइन का पालन करने की हिदायत देते हुए कहा कि मतदान केंद्रों पर बूथ प्लान बनाकर कार्य किया जाए। मतदान केंद्र के अंदर दो टेबल लगाई जाए। प्रथम टेबल पर पंच व सरपंच व दूसरी टेबल पर जनपद व जिला पंचायत सदस्य के मतदान के लिए मतपत्र का वितरण किया जाए जिससे मतदान तीव्र गति से हो सके। मतदान केंद्र पर मोबाइल ले जाने की अनुमति नहीं रहेगी।

आयोग के निर्देशानुसार मतदान केंद्र के भीतर मोबाइल ले जाने की अनुमति नहीं है। पुलिस पदाधिकारी, मतदान कर्मी व पोलिंग एजेंट की चेकिंग अनिवार्य रूप से करें। इस दौरान कलेक्टर ने सख्त लहजे में कहा कि अगले चरण के मतदान में अगर किसी मतदान केंद्र पर पीठासीन अधिकारी के अलावा, मतदान कर्मी या पोलिंग एजेंट के पास मोबाइल पाया गया तो उनका मोबाइल जब्त किया जाएगा।

मतदान के तुरंत बाद ही हो मतगणना

कलेक्टर ने निर्देशित किया कि आयोग के निर्देशानुसार मतदान की समाप्ति के तुरंत बाद ही मतगणना कार्य प्रारंभ किया जाए। मतदान केंद्रों पर ही की जाने वाली मतगणना का कार्य किसी भी स्थिति में विलंब से न हो। इसके लिए आवश्यक है कि अभ्यर्थियों के मतदान एजेंट को सुबह ही बता दिया जाए कि मतदान के तुरंत बाद मतगणना कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा। इसलिए वे अपनी उपस्थिति मतदान केंद्र पर सतत बनाए रखें।अगर कहीं पर पोलिंग एजेंट बाहर चला जाए तो उसके आने की प्रतीक्षा न करते हुए मतगणना का कार्य किया जाए, जिससे समय पर आयोग को रिपोर्ट प्रेषित की जा सके ।

मिशन उम्मीद में लापरवाही बरतने वालों पर होगी कार्रवाई

कलेक्टर ने मिशन उम्मीद योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि यह जिले की एक अनूठी योजना है। इस योजना में किसी भी स्तर पर लापरवाही बरतने वाले अधिकारी-कर्मचारी पर कार्रवाई की जाएगी। इस योजना में स्वास्थ्य केंद्र पर प्रसव के लिए महिला को लाने वाले प्रेरक को नियमानुसार राशि का भुगतान तुरंत किया जाए। ऐसा नहीं करने वाले बीएमओ के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया कि मिशन उम्मीद में प्रेरक को समय पर राशि का भुगतान किया जाए जिससे प्रेरित होकर, प्रेरक गर्भवती महिला को पहाड़ी से उतारकर स्ट्रेचर के माध्यम से अस्पताल ला सकें।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close