MP: बड़वानी, नईदुनिया प्रतिनिधि। बड़वानी के पलसूद गांव में एक पेड़ पर लगे फल इन दिनाें सबके लिए आश्चर्य का कारण बने हुए हैं। इस पेड़ पर लगने वाले नारियल जैसे फल काे देखकर हर किसी का मन ललचा रहा है, लेकिन काेई भी इसे खाने का साहस नहीं जुटा पा रहा है। क्याेंकि ये फल पेड़ से गिरते ही पटाखे की तरह फूट जाते हैं। जिससे लाेग हैरानी के साथ ही खासे डरे हुए भी हैं। लाेगाें काे जब माजरा समझ नहीं आया ताे सूचना पुलिस और विभाग की टीम काे दी गई। इसके बाद फल के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है। जिससे पता चल सके कि वास्तव में यह पेड़ और इस पर उगने वाले फलाें का क्या रहस्य है।

वन विभाग की टीम भी जब माैके पर पहुंची ताे फलाें के फटने की बात उनके गले नहीं उतरी। इसके बाद एक फल काे जमीन पर फेंककर देखा ताे वह तेज धमाके के साथ फट गया। जिससे वन विभाग के अधिकारी भी उलझन में पड़ गए। दरअसल गांव का शांतिलाल अपने खेत में पेड़ाें काे काटने में जुटा हुआ था, इसी दाैरान एक फल नीचे गिरा और तेज आवाज के साथ फट गया। इस हादसे में उसकी एक उंगली भी चाेटिल हाे गई। आसपास खेताें में काम करने वाले लाेगाें ने जब शांतिलाल काे चाेटिल हालत में देखा ताे वह भी उसके पास पहुंचे और घायल हाेने की वजह पूछी। जब उसने पेड़ से फल गिरने के बाद पटाखे जैसे फूटने की बात कही ताे किसी काे हजम नहीं हुई। इसके बाद अन्य लाेगाें ने भी जब फलाें काे फेंककर देखा ताे वह फट गए। इसके बाद घायल काे अस्पताल पहुंचाया गया ताे वन विभाग और पुलिस तक भी यह बात पहुंच गई।

ऐसा कभी देखा सुना नहींः वन विभाग के अफसरों को भी इस बात पर यकीन नहीं हो रहा है। डीएफओ एसएल भार्गव के अनुसार पलसूद में बम या पटाखे जैसे फूटने वाले फल की जानकारी मिली है।फिलहाल सैंपल लेकर जबलपुर लैब में भेजा है। ऐसा कभी देखा सुना नहीं है। जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी कि फल के फटने के पीछे क्या कारण है। वहीं वनस्पति विशेषज्ञ प्रोफेसर वीणा सत्य का भी कहना है कि इस तरह के पेड़ यहां नहीं पाए जाते। जांच के बाद ही सारी स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close