-बड़वानी के समाजसेवियों ने इंटरनेट मीडिया की मदद से छिंदवाड़ा के व्यक्ति को सकुशल घर लौटाया

युवराज गुप्ता. बड़वानी

करीब पांच साल पहले छिंदवाड़ा से नर्मदा परिक्रमा पर निकला भाई बड़वानी में भटक गया। यहां के समाजसेवियों ने उसका इलाज कराया और इंटरनेट मीडिया के माध्यम से सर्चिंग कर उसके स्वजन से संपर्क किया। पांच साल से लापता हुए भाई को रक्षाबंधन पर बहनों से मिलाकर यहां के समाजसेवियों ने अनूठी मिसाल पेश की। समाजसेवियों ने भटके व्यक्ति को जनसहयोग से उसके घर पहुंचाया। छिंदवाड़ा पहुंचकर बहनों ने राखी बांधी तो यहां के समाजसेवियों ने भी खुशी जताई।

दरअसल छिंदवाड़ा के रहवासी हरिराम साहू करीब पांच साल पहले नर्मदा परिक्रमा के लिए घर से निकले थे। समाजसेवी अजीत जैन ने बताया कि बड़वानी में आकर नर्मदा किनारे वे भटक गए थे। यहां उनका इलाज किया गया। वहीं उनके बारे में पूछताछ करने के बाद जब इंटरनेट मीडिया पर जानकारी साझा की गई तो छिंदवाड़ा में उनके स्वजन का पता चला। छिंदवाड़ा के रोटरी क्लब के पूर्व सचिव दीपक बोहरा से संपर्क कर उनके स्वजन से चर्चा की गई। वीडियो काल पर उनकी बहनों से चर्चा कराई गई। इसके बाद बड़वानी और छिंदवाड़ा के समाजसेवियों ने आपसी सहयोग से हरिराम साहू को उनके घर पहुंचाने का प्रबंध किया। घर पहुंचने के बाद उनकी बहन सोमवती साहू ने राखी बांधकर इसके फोटो इंटरनेट मीडिया पर डाले।

जिला अस्पताल में इन्होंने की मदद

हरिराम साहू के उपचार व देखरेख में जिला अस्पताल के डाक्टर व नर्सों ने भी महती भूमिका निभाई। नर्स नयनबाला खान एवं रमणी जेम्स ने उनकी देखरेख और उपचार किया। वहीं उत्सव सोलंकी, भूपेंद्र राठौड़, संजय कन्नाौजे, सहसराम साहू छिंदवाड़ा, रोहित द्विवेदी छिंदवाड़ा आदि ने हरिराम को छिंदवाड़ा भेजने की व्यवस्था की।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close