बड़वानी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर के रणजीत क्लब को अधिग्रहित करने के बाद प्रशासन ने अब परिसर के कुछ मकानों को हटाने की कार्रवाई शुरू कर दी है। संबंधितों को दो दिन मोहलत देकर मकान खाली करने के आदेश दिए हैं। रहवासियों ने एसडीएम को राजा का दानपत्र सहित अन्य दस्तावेज पेश किए। प्रशासन के अनुसार ये पर्याप्त नहीं है।

लीज नियमों के उल्लंघन को लेकर प्रशासन ने गुरुवार को ही रणजीत क्लब को कब्जे में ले लिया है। बिना मोहलत दिए परिसर में मौजूद होटल व आवास को ढहाने की कार्रवाई की थी। यह होटल व आवास भवन भाजपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष अमृतलाल अंटी अग्रवाल द्वारा संचालित किया जाता था। अग्रवाल के अनुसार वर्ष 2003 से वे क्लब से अनुबंध करके भोजनालय रूपी होटल चला रहे थे। शुक्रवार दिनभर परिसर में मौजूद होटल का मलबा साफ करवाया गया।

स्टे का प्रयास कर रहे

क्लब परिसर में रहने वाली निलोफर शेख ने बताया कि उनके दादा गुलाब खां बोदर 1940 से यहां रहते थे। तब सिर्फ रणजीत क्लब का पुराना भवन बना था और हमारे मकान से सुखविलास पहाड़ी पर बना राजा का महल स्पष्ट नजर आता था। करीब 45 वर्ष रहने के बाद राजा द्वारा 1989 में हमें यह जमीन का दानपत्र सौंपा था, जो आज हमारे पास मौजूद है। दादा के छह लड़के यहां रहते आए हैं। दादा की तीसरी-चौथी पीढ़ी रह रही है। प्रशासन को हमने दस्तावेज की पूरी फाइल सौंपी है। नगर पालिका में जलकर, संपत्तिकर आदि की वर्षों पुरानी रसीदें हमारे पास है। इसे प्रशासन सही नहीं मान रहा है। मकान के अलावा हमारे पास कोई अन्य साधन नहीं है। व्यापार-व्यवसाय के साधन नहीं है। यहां से हटाने के बाद कहीं रहने की जगह भी नहीं बचेगी। दस्तावेजों के आधार पर हाई कोर्ट से स्टे का प्रयास कर रहे हैं।

कलेक्टर के आदेश पर एक दिन पूर्व रणजीत क्लब को अधिग्रहित किया था। वहीं अवैध होटल-आवास के मलबे को साफ करवाया है। परिसर में मौजूद अन्य मकान वालों को नोटिस देकर दो दिन में मकान खाली करने के निर्देश दिए हैं। उनके दिखाए दस्तावेज पर्याप्त नहीं हैं। मोहलत के बाद मकान तोड़े जाएंगे।

-घनश्याम धनगर, एसडीएम बड़वानी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags