सेंधवा (नईदुनिया न्यूज)। शहर स्थित शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय को क्वालिटी लर्निंग सेंटर बनाए जाने के लिए चयन किया गया है। इस संबंध में स्टेट प्रोजेक्ट डायरेक्टोरेट, रूसा (उच्च शिक्षा विभाग, मप्र शासन भोपाल) द्वारा प्रदेश के 518 शासकीय कालेजों में से 150 शासकीय कालेजों का चयन कर सूची जारी की गई है। इसमें सेंधवा कालेज सहित जिले के तीन शासकीय कालेजों का चयन किया गया है। जानकारी के अनुसार चि-ति 10 गतिविधियों के बेहतर क्रियान्वयन पर कालेज में क्वालिटी लर्निंग सेंटर की स्थापना और उनकी मूल्यांकन प्रणाली की व्यवस्था की जाएगी। इससे क्षेत्र के विद्यार्थियों को लाभ मिलेगा।

रूसा कोओर्डिनेटर डॉ. दिनेश कनाड़े ने बताया कि राज्य को देश में अग्रणी बनाने, लोगों में सकारात्मक बदलाव लाने और आत्मनिर्भर बनाने की संकल्पना को मूर्त रूप देने के लिए आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश की पहल की गई है। इसी के अंतर्गत उच्च शिक्षा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश रोडमैप 2023 तैयार किया गया है। क्वालिटी लर्निंग सेंटर के माध्यम से सर्व समावेशी गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाएगा। रोडमैप के तहत कालेज में अधोसंरचना विकास, अध्ययन, अनुसंधान व अध्यापन के लिए स्वस्थ्य वातावरण, महाविद्यालयीन अर्थव्यवस्था का सुदृढ़ीकरण, रोजगार के अवसर ढूंढना तथा सुशासन पर केंद्रित क्वालिटी लर्निंग सेंटर बनाया जाएगा।

पांच लक्ष्यों को प्राप्त करना होगा

आइक्यूएसी कोओर्डिनेटर प्रो महेश बाविस्कर ने बताया कि योजना के तहत अधोसंरचना विकास के लिए आवश्यक निर्माण, नवीनीकरण व विस्तारीकरण करना, सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में संसाधन उपलब्ध कराना। सुशासन, नेतृत्व तथा प्रबंधन के लिए उन्मुखीकरण व प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित करना, संस्थान को स्वायत्तता के श्रेष्ठ प्रयोग करने में सक्षम बनाना। आत्मनिर्भर विद्यार्थी के लक्ष्य पूर्ति के लिए बौद्धिक रूप से जागरूक व शारीरिक रूप से स्वस्थ विद्यार्थी बनाने के लिए सर्वसमावेशी पाठ्यक्रम, उद्यमिता, कौशल विकास, रोजगार उन्नायन के लिए भौतिक संसाधन उपलब्ध कराना और संस्थान की रैंकिंग को बढ़ाने के लक्ष्यों को रखा गया है। वरिष्ठ प्रोफेसर एवं यूजीसी प्रभारी डॉ. एसआर अहिरे ने हर्ष जताते हुए कहा कि क्वालिटी लर्निंग सेंटर बनाए जाने से कालेज के गुणात्मक सुधार से प्रदेश स्तर पर पहचान मिलेगी। कालेज की इस उपलब्धि के लिए समस्त महाविद्यालयीन स्टाफ ने हर्ष व्यक्त किया।

रैंकिंग में सुधार होगा

जुलाई 2019 में नैक टीम द्वारा कालेज का दौरा कर मूल्यांकन किया गया था जिसमें कालेज को बी प्लस ग्रेड मिली थी। कालेज को क्वालिटी लर्निंग सेंटर बनाए जाने से कालेज में अकादमिक सुविधाओं का विकास होगा। इससे कालेज की रैंकिंग में सुधार होगा।-डॉ. मीना भावसार, प्राचार्य, शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, सेंधवा

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags