राजपुर-जुलवानिया। नईदुनिया न्यूज

भारत युवा उत्थान अभियान के तत्वावधान में बुधवार को प्रदेश में पूर्ण रूप से शराब पर प्रतिबंध लगाने के लिए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन तहसीलदार भागीरथ वाकला को सौंपा गया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्व प्रचारक व राष्ट्रीय भारत युवा उत्थान अभियान अध्यक्ष राजेंद्र राजपूत ने बताया कि मप्र में प्रत्येक ग्राम, नगर व महानगर में स्वामी विवेकानंद जयंती पर 12 जनवरी से नशा मुक्ति अभियान चलाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि नशा एक अभिशाप है। प्रदेश में ही प्रतिवर्ष दो हजार 542 लाख लीटर शराब की खपत होती है। इतनी बड़ी मात्रा में शराब के नशे के कारण कई प्रकार की बीमारियां जन्म ले रही हैं। इससे समाज व परिवार में बड़ी हानि हो रही है। शराब के कारण राज्य में अपराधों में भी दिन-प्रतिदिन बढ़ोतरी के साथ साथ समाज, युवा व परिवार बर्बादी के कगार पर पहुंच रहे हैं। शराब के सेवन से प्रतिवर्ष 18 फीसदी लोग सड़क हादसे की शिकार हो जाते हैं। हमने भारत युवा उत्थान अभियान के तत्वाधान में मुख्यमंत्री से ज्ञापन के माध्यम से अपील की है कि वे प्रदेश में पूर्ण रूप से शराब पर प्रतिबंध लगाएं। ज्ञापन के अवसर पर समाजसेवी रणछोड़ पटेल, राजाराम कु शवाह, मुके श जिराती, मुके श कु शवाह, रीतेश चंदेल सहित बड़ी संख्या में आमजन मौजूद थे। वहीं जुलवानिया में नशा मुक्ति अभियान को लेकर भारत युवा उत्थान समिति के राष्ट्रीय संयोजक राजेंद्र राजपूत ने थाने पहुंचकर टीआई श्रीराम मंडलोई को 6 बिंदुओं का ज्ञापन सौंपा। इसमें नशे के दुष्परिणाम से समाज को क्षति होने पर रोक लगाते हुए नशीले पदार्थ की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। राजेंद्र राजपूत ने बताया कि अब तक 70 विधानसभा क्षेत्र में जाकर कलेक्टर, एसडीएम, तहसीलदार, थाना प्रभारियों को ज्ञापन देकर राज्यपाल के नाम यह संदेश दिया जा रहा हैं। इस दौरान बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

000000000000000

Posted By: