बड़वानी(नईदुनिया प्रतिनिधि)।

बीते दिनों आए स्वच्छ सर्वेक्षण के परिणामों में कुछ त्रुटियां सामने आई हैं। सर्वेक्षण में बड़वानी जिला मुख्यालय के जैन मंदिर के नाम पर लगी तस्वीरें ग्वालियर की होना पाया गया है। वहीं अन्य बिंदुओं पर भी त्रुटियां सामने आई है। इसे लेकर स्वच्छ भारत मिशन शहरी के संचालक को पत्र लिख आपत्ति जताई गई है। ज्ञात हो कि गत वर्ष बड़वानी नगर पालिका प्रदेश में पांचवे स्थान पर थी, जो इस बार खिसक कर 11वें स्थान पर बताई गई है।

उल्लखेनीय है कि स्वच्छ सर्वेक्षण के तहत 'कचरा मुक्त शहर स्टार रेटिंग-2021' के परिणाम को लेकर असंतोष देखा जा रहा था। इस सर्वेक्षण में बड़वानी नपा द्वारा थ्री स्टार के लिए अपना दावा प्रस्तुत किया गया था। रैंकिंग को लेकर नपाध्यक्ष लक्ष्मण चौहान ने भी असंतोष जताया था। वहीं जब सर्वेक्षण के फायनल स्कोर कार्ड का अध्ययन किया गया तो त्रुटियां सामने आई हैं। इसे लेकर मुख्य नगर पालिका अधिकारी ने मिशन संचालक को पत्र लिखा है।

अक्षांश-देशांश के आधार पर भिन्ना है स्थान

सर्वेक्षण के फायनल स्कोर कार्ड में रहवासी व व्यवसायिक क्षेत्र में सफाई को लेकर फोटो अपलोड किए गए हैं। इसमें बड़वानी जैन मंदिर चौराहे के फोटो के साथ लोकेशन के लिए अक्षांश-देशांश भी प्रदर्शित किया गया है। लेकिन जांच करने पर पाया गया कि यह अक्षांश-देशांश बड़वानी का ना होकर ग्वालियर क्षेत्र का है। लगाए गए फोटो में गंदगी व कचरा फैला दिखाई दे रहा है, जबकि जैन मंदिर चौराहा शहर का मुख्य चौराहा है और सामान्य तौर पर साफ-सुथरा रहता है। इसके वास्तविक फोटो आपत्ति के साथ साक्ष्‌य में रूप में दिए गए हैं।

घरों से ही एकत्रित करते हैं अलग-अलग कचरा

स्कोर कार्ड में स्त्रोत अर्थात घरों से कचरा गीला-सूखा कचरा अलग-अलग एकत्रित करने के बिंदू में 'कोई डेटा उपलब्ध नहीं' लिखा है, जबकि नपा का दावा है कि निकाय द्वारा 90 प्रतिशत तक गीला-सूखा कचरा वर्गीकरण घरों से ही एकत्रित किया जाता है। इस पर आपत्ति लेते हुए नपा द्वारा फोटोग्राफ व लागबुक संलग्न की गई है। विध्वंसक मलबे एकत्रित करने की सुविधा वाले बिंदू में नपा को शून्य अंक दिए गए हैं। जबकि नपा का दावा है कि निर्माण कार्यों सहित अन्य मलबे को एकत्रित कर निपटाने की समुचित व्यवस्था है। इसके साक्ष्य में भी फोटो उपलब्ध कराए गए हैं। उक्त बिंदूओं पर नंबर कम मिलने से रैंकिंग पर भी प्रभाव आया है। इसके चलते नपा द्वारा इन बिंदुओं पर आपत्ति ली गई है।

गत माह जारी कचरा मुक्त शहर स्टार रेटिंग में निकाय को पात्र नहीं माना गया है। फायनल स्कोर कार्ड का अध्ययन करने पर कुछ त्रुटियां सामने आई हैं। इसे लेकर मिशन संचालक को पत्र लिख स्थिति स्पष्ट की है। यदि इन बिंदुओं पर नंबर मिलते हैं तो निकाय की रेटिंग में सुधार हो सकता है।

-कुशलसिंह डोडवे, सीएमओ बड़वानी

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local