सेंधवा(नईदुनिया न्यूज)।

जिले में ऐसे लोग जो बलशाली और प्रभावशाली होकर सरकारी जमीन पर कब्जा कर के बैठे है, उनकी पहचान कर रहे है। पूरे जिले में खंगाला जा रहा है कि कौन-कौन भय का वातावरण बनाकर भूमाफिया के रूप में काम कर रहा है। उनकी पहचान कर के उन्हें नेस्तनाबूद किया जाएगा। उक्त बात कलेक्टर शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को मीडिया से चर्चा में कही।

इसके पूर्व कलेक्टर वर्मा ने शहर से 16 किमी दूर बड़ी बिजासन मंदिर पहुंचकर ट्रस्ट अध्यक्ष के रूप में पहली बैठक लेकर मंदिर की व्यवस्थाओं को लेकर दिशा निर्देश दिए। बैठक में मंदिर समिति के पूर्व अध्यक्ष एस वीरा स्वामी और विकास आर्य ने पुष्प गुच्छ भेंट कर कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा और पानसेमल एसडीएम अंशु जावला का स्वागत किया।

कलेक्टर ने बताया कि बड़ी बिजासन ट्रस्ट की पहली बैठक हुई है। ट्रस्ट के अनुसार कार्रवाई करने को लेकर सुझाव आए थे। जिसको लेकर आवश्यक चर्चा और दिशा निर्देश दिए गए है। बैठक में स्थायी और अस्थायी सदस्य अरूण चौधरी, मोहन जोशी, नीरज कानूनगो सहित अन्य शामिल रहे।

राजस्व विभाग की समीक्षा की

कलेक्टर वर्मा ने शहर आकर एसडीएम कार्यालय में राजस्व विभाग की योजनाओं और अभियान की समीक्षा की। इस दौरान राजस्व विभाग के अभियान भू अभिलेख शुद्धीकण, मुख्यमंत्री भू अधिकार योजना, स्वामित्व योजनाओं की समीक्षा की। सीएम द्वारा भी इनको लेकर लगातार बैठक ली जाती है। इन अभियानों में कैसे गति दी जाए। इसको लेकर समीक्षा की गई।

शासन-प्रशासन की पूरी नजर

जिले में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को लेकर कलेक्टर ने कहा कि कोरोना संक्रमण प्रदेशभर सहित जिले में तेजी से कोरोना बढ़ रहा है। लगातार टेस्टिंग की जा रही है। प्रतिदिन एक हजार के करीब टेस्टिंग की जा रही है। कोरोना के केस बढ़ सकते है। जिले में पर्याप्त संसाधन है। आक्सीजन प्लांट तीन है। शासन-प्रशासन संक्रमण को लेकर पूरी नजर रखे हुए है। जिले में अभी तक 94 प्रतिशत को पहला डोज लग चुका है। 99.4 प्रतिशत लोगों को दूसरा डोज लग चुका है। 15 से 18 वर्ष की आयु के 80 प्रतिशत बच्चों को डोज लग चुका है। स्वास्थ्य कर्मी व फ्रंट लाइन वर्कर को भी डोज लग रहे है। कलेक्टर ने कहा कि डोज लगने का फायदा यह हुआ कि ज्यादा केस निकलने के बावजूद अस्पताल में भर्ती करने की स्थिति नहीं बन रही है। जिला अस्पताल व सेंधवा सिविल अस्पताल में बेड की व्यवस्था है। डरने जैसी बात नहीं है।सेंधवा और पानसेमल अस्पताल में डॉक्टरों की कमी के सवाल पर कलेक्टर ने कहा कि हमारे जिले में डॉक्टरों की कमी है। हमारे द्वारा शासन से डॉक्टरों मांग की गई है। कलेक्टर ने लोगों से अपील की कि मास्क लगाए और शारीरिक दूरी का पालन करे। सर्दी, खांसी होने पर अपना टेस्ट अवश्य कराए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local