बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। त्रिस्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2022 के तहत प्रथम चरण में 25 जून को जिले की बैतूल, आमला एवं शाहपुर जनपद अंतर्गत मतदान होगा। शुक्रवार को सभी मतदान दलों को सामग्री का वितरण कर मतदान केंद्र के लिए रवाना कर दिया गया है। शनिवार को सुबह सात बजे से अपरान्ह तीन बजे तक मतदान का समय निर्धारित किया गया है। तीन जनपद क्षेत्रों में चुना मैदान में उतरे 3066 प्रत्याशियों के लिए 310192 मतदाता करेंगे। बैतूल, आमला और शाहपुर जनपद क्षेत्र में कुल 598 मतदान केंद्र बनाए गए हैं जिनमें से 98 संवेदनशील हैं।

बैतूल जनपद क्षेत्र में 76 सरपंच पद के लिए 335 अभ्यर्थी और 277 पंच पद के लिए 581 अभ्यर्थी मैदान में हैं। 25 जनपद सदस्य पद के लिए 87 अभ्यर्थी मैदान में हैं। तीन जिला पंचायत सदस्य पद के लिए 16 अभ्यर्थी मैदान में हैं। इनके लिए 257 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इनमें से 45 संवेदनशील हैं। इन केंद्रों पर 66399 पुरुष और 63262 महिला मतदाता हैं। एक अन्य मतदाता है। बैतूल जनपद के लिए 22 जीप, 69 बसों की व्यवस्था की गई है। जबकि मतदान कराने के लिए 1418 पीठासीन और मतदान अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है।

आमला जनपद क्षेत्र में 68 सरपंच पद के लिए 364 अभ्यर्थी और 330 पंच पद के लिए 724 अभ्यर्थी मैदान में हैं। 24 जनपद सदस्य पद के लिए 109 अभ्यर्थी मैदान में हैं। तीन जिला पंचायत सदस्य पद के लिए 18 अभ्यर्थी मैदान में हैं। इनके लिए 203 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इनमें से 29 संवेदनशील हैं। इन केंद्रों पर 57963 पुरुष और 54927 महिला मतदाता हैं। दो अन्य मतदाता है। आमला जनपद क्षेत्र के लिए 16 जीप, 60 बसों की व्यवस्था की गई है। जबकि मतदान कराने के लिए 1130 पीठासीन और मतदान अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है।

शाहपुर जनपद क्षेत्र में 38 सरपंच पद के लिए 160 अभ्यर्थी और 274 पंच पद के लिए 585 अभ्यर्थी मैदान में हैं। 18 जनपद सदस्य पद के लिए 80 अभ्यर्थी मैदान में हैं। दो जिला पंचायत सदस्य पद के लिए सात अभ्यर्थी मैदान में हैं। इनके लिए 138 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इनमें से 24 संवेदनशील हैं। इन केंद्रों पर 30310 पुरुष और 37331 महिला मतदाता हैं। एक अन्य मतदाता है। शाहपुर जनपद क्षेत्र के लिए 15 जीप, 38 बसों की व्यवस्था की गई है। जबकि मतदान कराने के लिए 775 पीठासीन और मतदान अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है।

जनपद पंचायत बैतूल अंतर्गत 23, जनपद पंचायत आमला अंतर्गत 17 एवं जनपद पंचायत शाहपुर अंतर्गत 17 सेक्टर अधिकारी नियुक्त किए गए हैं।

इन दस्तावेजों से कर पाएंगे मतदानः

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन के लिए मतदाताओं की पहचान स्थापित करने के लिए दस्तावेजों की सूची जारी की है। इनमें से किसी एक के माध्यम से भी मतदाता मताधिकार का प्रयोग कर पाएंगे। इनमें वोटर स्लिप, भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिया गया मतदाता पहचान-पत्र, आधार कार्ड, भू-अधिकार एवं ऋण पुस्तिका, राशन कार्ड (सभी सफेद, नीला, पीला एवं गुलाबी), बैंक/किसान/डाकघर पासबुक, शस्त्र लाइसेंस, सम्पत्ति दस्तावे जैसे पट्टा, रजिस्ट्रीकृत विलेख आदि, विकलांगता प्रमाण-पत्र, निराश्रित प्रमाण-पत्र, तेंदूपत्ता संग्राहक पहचान-पत्र, सहकारी समिति का अंश प्रमाण-पत्र, किसान क्रेडिट कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेन्स, आयकर पहचान-पत्र (पी.एन.एन. कार्ड), राज्य/केन्द्र सरकार, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, स्थानीय निकाय या अन्य निजी औद्योगिक घरानों द्वारा उनके कर्मचारियों को जारी किए जाने वाले सेवा पहचान पत्र, छात्र पहचान-पत्र, सक्षम प्राधिकारियों द्वारा जारी अ.जा./अ.ज.जा./अन्य पिछड़ा वर्ग/अधिवासी प्रमाण-पत्र, पेंशन दस्तावे जैसे कि भूतपूर्व सैनिक पेंशन बुक/पेंशन अदायगी आदेश/भूतपूर्व सैनिक, विधवा/आश्रित प्रमाण-पत्र, रेलवे पहचान-पत्र, स्वतंत्रता सेनानी पहचान पत्र और रोजगार गांरटी योजना में जारी फोटोयुक्त जाबकार्ड शामिल हैं। इसके अतिरिक्त पीठासीन अधिकारी ऐसा कोई अन्य अभिलेख भी स्वीकार कर सकेगा जिससे वह मतदाता की पहचान के संबंध में संतुष्ट हो सके। इन दस्तावेजों में से जो परिवार के मुखिया के पास ही उपलब्ध होता है, उसके परिवार के दूसरे सदस्यों की पहचान के लिए अनुमति दी जाएगी। इसी प्रकार से परिवार के किसी दूसरे सदस्य के नाम से कोई दस्तावेज अन्य सदस्यों की पहचान के लिए भी प्रयोग किया जा सकता है, बशर्ते ऐसे दस्तावे के आधार पर दूसरे सदस्यों की पहचान की जा सकती हो। यदि कोई मतदाता कोई भी दस्तावेज प्रस्तुत करने में असफल रहता है तो पीठासीन अधिकारी स्थानीय कोटवार, पटवारी, शिक्षक, ग्राम पटेल, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी सहायिका इत्यादि कर्मियों या किसी प्रतिष्ठित स्थानीय निवासी से उसकी पहचान स्थापित कराने के बाद, उसे मतदान की सुविधा दे सकेगा।

ऐसे जानें मतपत्रों का रंगः

पंचायत निर्वाचन में मतपत्रों के चार रंग निर्धारित किए गए हैं। पंच पद के लिए सफेद, सरपंच पद के लिए नीला, जनपद सदस्य के लिए पीला और जिला पंचायत सदस्य के लिए गुलाबी रंग का मतपत्र होगा। मतदाताओं को सभी मतपत्र पर अपनी पसंद के उम्मीदवार के चुनाव चिन्ह के सामने सील लगानी होगी और उसे मतपेटी में डालना होगा। मतदान के बाद मतों की गिनती मतदान केंद्र पर मतदान का दोपहर तीन बजे समाप्त होने के बाद केंद्र पर ही होगी। विकासखंड मुख्यालय पर मतों की गिनती 28 जून को सुबह आठ बजे से होगी। मतगणना के बाद पंच, सरपंच और जनपद सदस्य के परिणाम की घोषणा 14 जुलाई को होगी। जिला पंचायत सदस्य के चुनाव के बाद मतगणना का सारणीकरण 14 जुलाई को किया जाएगा। परिणाम की घोषणा 15 जुलाई को प्रातः 10.30 बजे से की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close