मुलताई (नवदुनिया न्यूज)। नगर में भाजपा नेताओं ने सीएमओ नितिन बिजवे एवं लिपिक जीआर देशमुख की शिकायत पूर्व में निर्वाचन अधिकारी से की थी जिसमें कहा गया था कि दोनों ही बैतूल जिले के निवासी होने तथा राजनैतिक संरक्षण प्राप्त होने से नगर पालिका चुनाव प्रभावित कर सकते हैं, लेकिन 25 जून को नगर पालिका में लिपिक के पद पर पदस्थ जीआर देशमुख को मुलताई से बैतूल अटैच कर दिया गया है वहीं सीएमओ नितिन बिजवे अभी भी मुलताई में ही जमे हुए हैं जिस पर आपत्ति दर्ज करते हुए भाजपा नेताओं ने सीएमओ बिजवे पर भी कार्रवाई की मांग की गई है। भाजपा के पूर्व पार्षद हनी खुराना ने बताया कि जब सीएमओ एवं लिपिक दोनों ही बैतूल जिले के हैं तो फिर सीएमओ पर कार्रवाई क्यों नहीं की गई। उन्होंने बताया कि सीएमओ नितिन बिजवे राजनैतिक संरक्षण प्राप्त है जो मुलताई नगर पालिका चुनाव प्रभावित कर सकते हैं एैसी स्थिति में उन पर तत्काल कार्रवाई करते हुए मुलताई से स्थानांतरण किया जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा सिर्फ लिपिक को बैतूल अटैच कर औपचारिकता पूर्ण कर दी गई है जबकि सीएमओ नितिन बिजवे पर भी तत्काल कार्रवाई कर उनका भी स्थानांतरण होना चाहिए। बताया जा रहा है कि पूर्व में नगर पालिका में पदस्थ सीएमओ नितिन बिजवे की विवादित कार्यप्रणाली के चलते उनका प्रारंभ से ही विरोध हो रहा था वहीं चुनाव आने पर उनके बैतूल जिले का ही होने से तथा राजनैतिक संरक्षण प्राप्त होने के कारण शिकायत की गई थी।

आरक्षण प्रक्रिया पर भी जताई थी आपत्तिः

नगर पालिका चुनाव में शासन के निर्देशानुसार आरक्षण प्रक्रिया में लाट प्रणाली से वार्डो में आरक्षण घोषित किया जाना था लेकिन अधिकारी द्वारा उक्त प्रणाली से घोषित नहीं किया गया। भाजपा नेताओं ने शिकायत में कहा गया कि अधिकारी द्वारा एक सूची पूर्व से बनाकर लाई गई जिसे बैठक में पढ़कर सुना दिया गया जिसे निष्पक्ष आरक्षण प्रक्रिया नहीं कहा जा सकता। हनी खुराना ने बताया कि विगत 25 मई को आरक्षण घोषित करने हेतु दोपहर 4.30 बजे समय पर आम जनता उपस्थित हो चुकी थी जिसमें अधिकारी द्वारा बैठक के आरंभ में ही रजिस्टर में सभी नागरिकों के हस्ताक्षर करा लिए गए थे जिसके उपरांत सूची पढ़कर सुनाई गई जिसके कारण मौके पर कोई भी व्यक्ति आपत्ति दर्ज नहीं करा पाया।

शिकायत में भाजपा के साथ कांग्रेसी भी थे शामिलः

जिला निर्वाचन अधिकारी से सीएमओ एवं लिपिक की शिकायत में भाजपा नेताओं के साथ कांग्रेस नेता भी शामिल थे। जिला निर्वाचन अधिकारी को सौंपी गई शिकायत में भाजपा के नगर मंडल अध्यक्ष हनी भार्गव, पूर्व पार्षद हनी खुराना, श्रवण नागले, रमेश कड़वे,जयदीप ठाकरे, भीमसिंह सहित कांग्रेस की पूर्व पार्षद निशा भारती एवं निर्मला बेले भी शामिल थीं। फिलहाल जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा लिपिक जीआर देशमुख को बैतूल के डूडा में अटैच कर दिया गया है लेकिन सीएमओ बिजवे पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। पूर्व पार्षद हनी खुराना के अनुसार कार्रवाई में पक्षपात नहीं होना चाहिए तथा सीएमओ पर तत्काल जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा कार्रवाई की जाना चाहिए।

सीएमओ पर लगाया राजनैतिक संरक्षण का आरोपः

सीएमओ नितिन बिजवे मुलताई नगर पालिका में पदस्थ होने के बाद से ही विवादों में बने हुए हैं। उन पर जिला भाजपा नेता से सांठगांठ के आरोप भी लग रहे हैं। नगर के भाजपा नेताओं ने अधिकारी पर राजनैतिक संरक्षण का आरोप लगाते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी से शिकायत भी की है। भाजपा नेताओं ने बताया कि जब भी जिला पदाधिकारी मुलताई आए वे अधिकारी के सरकारी निवास पर अवश्य गए जिससे यह स्पष्ट है कि जिला पदाधिकारी एवं अधिकारी में सांठगांठ है एैसी स्थिति में अधिकारी जब अधिकारी बैतूल जिले का ही हो और राजनैतिक संरक्षण प्राप्त हो तो निष्पक्ष चुनाव की उम्मीद कैसे की जा सकती है। पूरे मामले में देखना यह है कि लिपिक के बाद अब अधिकारी पर कब कार्रवाई की गाज गिरती है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close