बैतूल। भीमपुर ब्लॉक के ग्राम बक्का में शुक्रवार को एक गर्भवती को लेने गई 108 एंबुलेंस उसके घर तक नहीं पहुंच सकी। ऐसे में उसका पति उसे गोद में उठाकर करीब 200 फीट दूर खड़ी एंबुलेंस तक लाया, तब एंबुलेंस में ही उसका सुरक्षित प्रसव कराया गया।

संजीवनी 108 एंबुलेंस के समन्वयक योगेश पंवार के मुताबिक बक्का गांव से आशा कार्यकर्ता अनीता पाटिल की सूचना पर एंबुलेंस गांव पहुंची थी। वहां सज्जन पांसे की पत्नी कलंतीबाई को प्रसव पीड़ा हो रही थी, लेकिन सज्जन के घर के रास्ते में नाले की पुलिया क्षतिग्रस्त है।

इस कारण एंबुलेंस घर तक नहीं पहुंच पाई। तब सज्जन अपनी पत्नी कलंतीबाई को गोद में उठाकर एंबुलेंस तक ले आया। तेज प्रसव पीड़ा होने पर एंबुलेंस में ही कलंतीबाई का प्रसव करा दिया गया। फिर उसे और नवजात बालक को भीमपुर सिविल अस्पताल ले जाकर भर्ती करा दिया, जहां दोनों की सेहत ठीक है।