बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। आमला थाना क्षेत्र में बोरी-सारनी मार्ग के जंगल में फांसी पर लटके मिले युवती के शव के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। युवती ने आत्महत्या नहीं की थी बल्कि उसके प्रेमी ने शादी करने का दबाव बनाने के कारण पहले गला घोंटकर हत्या कर दी और फिर शव को फांसी के फंदे पर लटका दिया था। पुलिस ने जांच के बाद मिले साक्ष्य के आधार पर प्रेमी को गिरफ्तार कर हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

मुलताई एसडीओपी नम्रता सोंधिया ने बताया कि 26 जून को ग्राम लिखड़ी निवासी सरस्वती पति फागुसिंह उइके ने बोरदेही थाना पहुंचकर अपनी 22 वर्षीय बेटी आवंतिका के 20 जून को घर से लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मां ने पुलिस को बताया कि बेटी जुन्नाारदेव कालेज जाने का कहकर बाइक से निकली थी लेकिन वह जुन्नाारदेव नहीं पहुंची तथा फोन भी नहीं उठा रही है। पुलिस गुमशुदगी दर्ज कर खोजबीन कर रही थी इसी दौरान बोरी-सारनी मार्ग पर जंगल में आवंतिका की लाश फांसी पर लटकी हुई मिली। मामला संदेहास्पद प्रतीत होने पर पुलिस ने बारीकी से जांच प्रारंभ की। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृत्यु मानव वध की प्रकृति का होना बताया गया। पुलिस ने उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर ग्राम लिखड़ी के संदेही भानू पिता धनाराम साहू को हिरासत में लेकर पूछताछ की। उसने पहले तो पुलिस को गुमराह किया लेकिन जब साक्ष्‌य के आधार पर पूछताछ की तो उसने हत्या करना स्वीकार कर लिया। आरोपित भानू ने बताया कि उसके मृतका से करीब तीन-चार वर्ष से प्रेम संबंध थे। शुरूआत में सब ठीक चलता रहा किंतु अभी करीब तीन माह से मृतका भागकर शादी करने के लिये दबाव बना रही थी। जबकि वह दूसरे समाज की होने के कारण शादी नहीं करना चाहता था। इसी बात को लेकर आए दिन झगड़ा भी होता था। इसलिए भानू साहू ने उसे मारने का प्लान बना लिया। 19 जून को उसने फोन करके मृतका को दूसरे दिन सुबह मिलने के लिए बोरी के पास सारनी रोड़ पर जंगल में आने के लिये कहा। 20 जून को सुबह मृतका जब भानू से मिलने के लिए पहुंची तो उसे बातचीत करने के बहाने से वह झाड़ियों के अंदर नाले के किनारे ले गया। वहां मौका देखकर पहले हाथों से उसका मुंह दबा दिया फिर गला दबाकर हत्या कर दी। किसी को शंका न हो इसलिए स्वयं के गमछे से वहीं जामुन के पेड़ में फंदा बनाकर मृतका का शव फांसी पर लटका दिया। इसके बाद मृतका के जैकेट और एक बैग को पास में ही गड्डे में भरे पानी के अंदर पत्थर से दबा दिया। यह सब करने के बाद भागकर अपने घर चला गया। घर में उसे ध्यान आया कि मृतका का मोबाइल उसकी जेब में रह गया है। जिसमें इंटरनेट मीडिया पर हुई बातचीत मौजूद हैं। दूसरे दिन 21 जून को पुनः बोरी सारनी रोड पर जंगल में जाकर मृतका की जेब से मोबाइल निकालकर लाया और बोरी पहुंचने से पहले घिसी गांव के पास कच्चे रास्ते से जाकर मोबाइल को पत्थर से कुचलकर नाले में झाड़ियों के अंदर फेंककर दिया। पुलिस ने आरोपित भानू साहू के पास से घटना में प्रयुक्त बाइक और मृतका के मोबाइल के टुकड़े भी बरामद कर गिरफ्तार कर लिया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close