बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। आशा, उषा कार्यकर्ता महिला संगठन मप्र के बैनर तले जिले की आशा, उषा कार्यकर्ता प्रदेश सरकार के खिलाफ लामबंद हो गई है। शुक्रवार को आशा कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को सौंपकर कोविड-19 प्रोत्साहन राशि दिए जाने की मांग की हैं। मांग पूरी नहीं होने की दशा में इन कार्यकर्ताओं ने सरकार को टीकाकरण का बहिष्कार करने की खुली चेतावनी भी दे दी है।

सीएमएचओ को सौंपे ज्ञापन में जिलाध्यक्ष शबाना शेख ने बताया कि कोरोना महामारी से लड़ने में जमीनी स्तर पर महत्वपूर्ण और अहम भूमिका आशा एवं उषा कार्यकर्ता निभा रही है। महामारी से लड़ने में अहम योगदान को ध्यान में रखते हुए आशा एवं उषा कार्यकर्ताओं को एक हजार रुपये प्रतिमाह प्रोत्साहन राशि दी जा रही थी। वह राशि माह अक्टूबर 2021 तक हमें भुगतान की गई है। इन कार्यकर्ताओं का कहना है कि उन्हें सूत्रों से जानकारी प्राप्त हुई है कि माह नवम्बर 2021 से यह प्रोत्साहन राशि उन्हें भुगतान नहीं की जाएगी। उन्होंने बताया अभी भी प्रदेश एवं देश में कोरोना महामारी के नए वेरिएन्ट दस्तक दे रहे है, जिस कारण स्वास्थ्य विभाग एवं एनआरएचएम के द्वारा पुनः कोविड 19 महामारी से लड़ने की गतिविधियां चलाई जा रही है। वैक्सीनेशन अभियान में भी आशा एवं उषा कार्यकर्ता मुख्य भूमिका निभा रही हैं। ऐसी परिस्थिति में एनआरएचएम से मिलने वाली प्रोत्साहन राशि को बंद करना फर्स्ट लाईन वर्कर आशा एवं उषा कार्यकर्ताओं के साथ अन्याय एवं शोषण है। आशा एवं उषा कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया कि कोरोना महामारी से लड़ने के लिए उन्हें प्रत्येक माह मिलने वाली प्रोत्साहन राशि का भुगतान समय पर करने एनआरएचएम को आदेशित किया जाए। आशा एवं उषा कार्यकर्ताओं का यह भी कहना है कि कोविड 19 के अंतर्गत टीकाकरण का प्रति सत्र 200 रुपये की राशि दी जानी थी, जो आशा उषा को अभी तक प्राप्त नहीं हुई है। खण्ड चिकित्सा अधिकारी को कोविड टीकाकरण प्रति सत्र 200 रुपये की राशि दिए जाने आदेशित किया जाए। यदि तीन दिवस के भीतर प्रोत्साहन राशि का भुगतान नहीं किया गया तो आशा एवं उषा कार्यकर्ता कोविड टीकाकरण का बहिष्कार करेंगे। ज्ञापन सौंपने वालों में जिला अध्यक्ष शबाना शेख, देवकी मर्सकोले, सुषमा निरापुरे, काशी नागले, संगीता आर्य, अनीता घंगारे, आशा सोनारे, राजकुमारी, कविता कवडे, रेखा कनाठे, लक्ष्‌मी पवार, संगीता खातरकर, नंदिनी चौरासे सहित अनेक आशा, उषा कार्यकर्ता उपस्थित रहीं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local