Betul Crime News : मुलताई (नवदुनिया न्यूज)। प्रभात पट्टन मार्ग पर विगत 10 अगस्त को एक बंद पड़े ढाबे में मिली नेहरू वार्ड निवासी महिला के शव में पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज किया गया था। विवेचना के बाद पुलिस ने पर्दाफाश किया कि महिला की हत्या उसके पति एवं देवर ने मिलकर की जिसका कारण महिला का अपने रिश्ते के मामा से अवैध संबंध बताया जा रहा है। पांच अगस्त को पति एवं देवर ने महिला को अपने प्रेमी के साथ आपत्तिजनक अवस्था में बंद ढाबे में देख लिया था। जिसके बाद प्रेमी से मारपीट कर महिला की हत्या कर दी थी।

एसडीओपी नम्रता सोंधिया एवं थाना प्रभारी सुनील लाटा ने बताया कि चार अगस्त को मृतका संगीता पति राजेश साहू उम्र लगभग 35 वर्ष को उसके देवर मनोज साहू ने प्रेमी लक्ष्मण साहू से बात करते सुन लिया था। जिससे लक्ष्मण के साथ उसका विवाद भी हुआ था। इसकी जानकारी उसने अपने भाई मृतका के पति राजेश को दी। पांच अगस्त को मृतका संगीता बंद ढाबे की चाबी लेकर लक्ष्मण के साथ बाइक पर ढाबे पहुंची। देवर मनोज ने उसे जाते हुए देख लिया था। इसके बाद राजेश एवं मनोज के उसका पीछा करते हुए ढाबे के पास पहुंचे। जहां दोनों को आपत्ति जनक अवस्था में देखकर लक्ष्मण के साथ मारपीट की वहीं संगीता का गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। घटना के बाद लक्ष्मण की तबियत खराब होने के कारण मुलताई अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। छह अगस्त को मृतका के पति राजेश साहू ने पुलिस को संगीता के लापता होने की जानकारी देकर गुमशुदगी दर्ज कराई। 10 अगस्त को उपचार के दौरान लक्ष्मण की मौत हो जाने के बाद राजेश एवं मनोज ने ढाबे पर ताला तोड़कर अंदर संगीता का शव होने की सूचना पुलिस को दी। जिस पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मर्ग कायम किया तथा मामला विवेचना में लिया। पुलिस ने बताया कि विवेचना के दौरान मृतका के पति राजेश साहू एवं देवर मनोज साहू से कड़ी पूछताछ की गई जिससे उन्होने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए बताया कि उसकी पत्नी के अवैध संबंधों के कारण समाज में बहुत बदनामी हो चुकी थी इसलिए हत्या की। हत्या के प्रकरण के खुलासे में थाना प्रभारी सुनील लाटा,प्रभात पट्टन चौकी प्रभारी उत्तम मस्तकार, उप निरीक्षक अश्रि्‌वन चौधरी, प्रधान आरक्षक निलेश सोनी , प्रधान आरक्षक अंकित अग्निहोत्री, आरक्षक मिथलेश, अविनेश, प्रमोद, गोपाल, रोहित एवं साइबर सेल प्रभारी उप निरीक्षक राजेन्द्र राजवंशी, आरक्षक राजेन्द्र धाड़से, आरक्षक दीपेन्द्र तथा सैनिक शशि एवं राहुल की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close