बैतूल। नगर के प्रताप वार्ड टिकारी में रहने वाले 31 वर्षीय युवक ने बुधवार को दोपहर में अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक के माता-पिता शिक्षक हैं जिनसे फांसी लगाने के पहले उसने मोबाइल पर बात भी की थी। स्कूल से माता-पिता जब घर पहुंचे तो वह फंदे पर झूलता पाया गया। परिजनों ने सूदखोरों से परेशान होकर आत्महत्या करने का आरोप लगाया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार

टिकारी निवासी मुकेश रावत के पुत्र मयंक रावत उम्र 31 वर्ष का शव घर में फांसी के फंदे पर लटका मिला है। मृतक की जेब से कागज निकले हैं जिसमें 11 लोगों के साथ ही तीन संस्थाओं के नाम लिखे हैं और उसके आगे राशि भी लिखी हुई है। आरंभिक पूछताछ में पता चला है कि मृतक पहले माइक्रो फाइनेंस बैंक में नौकरी करता था। कुछ दिनों से वह बेरोजगार चल रहा था। माता पिता शिक्षक हैं और स्कूल गए हुए थे तभी उसने घर में फांसी लगा ली। परिजनों का आरोप है कि युवक को कुछ लोग ब्याज के पैसों के लिए काफी प्रताड़ित कर रहे थे और जान से मारने की धमकी भी दे रहे थे। जिसको लेकर वह परेशान चल रहा था। परिजनों ने पुलिस से मांग की है कि सूदखोरों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए। कोतवाली पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई के बाद जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है। कोतवाली थाना प्रभारी अपाला सिंग ने बताया कि मृतक के पास से मिले कागजों के आधार पर विवेचना प्रारंभ कर दी गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close