बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के तीन निकायों में होने वाले चुनाव के लिए प्रचार 25 सितंबर को शाम पांच बजे थम जाएगा। ऐसे में वार्ड के मतदाताओं को अंतिम समय में साधने के लिए प्रत्याशियों के द्वारा पूरी ताकत झोंकी जा रही है। भाजपा और कांग्रेस के नेताओं द्वारा लगातार अधिकृत प्रत्याशियों के साथ मतदाताओं तक पहुंचने का प्रयास भी किया जा रहा है। 27 सितंबर को जिले की सारनी नगर पालिका के साथ ही आठनेर और चिचोली नगर परिषद के पार्षद पदों के लिए मतदान होना है। अब प्रचार करने के लिए कम वक्त बचा है इस कारण से प्रचार तेज हो गया है। जिले की सबसे बड़ी नगर पालिका होने के कारण सारनी में भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दलों के नेताओं द्वारा जीत के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। जिले में भाजपा के एकमात्र विधायक डा योगेश पंडाग्रे के विधानसभा क्षेत्र की प्रमुख नगर पालिका होने से उनकी प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। चुनाव प्रचार के लिए विधायक के साथ पार्टी के नेताओं और संगठन के पदाधिकारियों द्वारा लगातार कार्यकर्ताओं की बैठकें ली जा रही हैं। सारनी क्षेत्र के उजड़ने को लेकर सबसे अधिक नाराजगी सत्ताधारी दल से लोगों में है। इसके चलते चुनाव प्रचार के दौरान विधायक को भी जनता के तीखे सवालों का सामना करना पड़ रहा है। जगह-जगह महिलाओं के द्वारा उनसे बिजली-पानी जैसी बुनियादी सुविधाओं के संबंध में सवाल किए जा रहे हैं। कांग्रेस यहां पर जनता के विरोध को भुनाने का प्रयास कर रही है। गुरुवार को पूर्व मंत्री और मुलताई विधायक सुखदेव पांसे, बैतूल विधायक निलय डागा के द्वारा विभिन्ना वार्डों में पहुंचकर मतदाताओं को साधने का प्रयास किया गया। सारनी नगर पालिका चुनाव में आम आदमी पार्टी के द्वारा भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है। जनता की समस्याओं को हल करने का भरोसा दिलाकर आप के नेताओं द्वारा मतदाताओं से सहयोग मांगा जा रहा है। उजड़ते सारनी को लेकर स्थानीय लोग बेहद चिंतित हैं और विपक्षी दलों के द्वारा इसे ही मुद्दा बनाया जा रहा है।

नगरपालिका परिषद सारनी के 36 वार्डों में कांग्रेस, भाजपा, आम आदमी पार्टी और निर्दलीय मिलाकर कुल 201 प्रत्याशी चुनाव मैदान में अपना भाग्य आजमा रहे हैं। नपा के 36 वार्डों में से 15 वार्डों में भाजपा के 20 से ज्यादा बागी उतर गए हैं। टिकट वितरण से नाराज होकर चुनाव मैदान में उतरने वालों को पार्टी के नेता साध नहीं पा रहे हैं। कांग्रेस में भी टिकट न मिलने के कारण दावेदारों के द्वारा बगावत कर दी गई है।

आठनेर नगर परिषद चुनाव से जुड़ी प्रतिष्ठा

जिले में बैतूल विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली आठनेर नगर परिषद में जीत हासिल करने के लिए भाजपा और कांग्रेस दोनों के ही द्वारा पूरी ताकत झोंकी जा रही है। यहां का चुनाव दोनों ही दलों के लिए प्रतिष्ठापूर्ण है। वर्तमान में कांग्रेस विधायक निलय डागा के द्वारा यहां पर जीत हासिल कर आगामी विधानसभा चुनाव में भी सफलता पाने के लिए रणनीति तैयार की जा रही है। कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष हेमंत वागद्रे का इस क्षेत्र में अच्छा जनाधार है इस कारण से उन पर भी जीत का दबाव है। बैतूल विधानसभा के पूर्व विधायक हेमंत खंडेलवाल भी आठनेर नगर परिषद पर भाजपा का कब्जा हो जाए इसके लिए प्रयास कर रहे हैं। दो दिन पहले ही गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा और लोक निर्माण विभाग के राज्यमंत्री सुरेश धाकड़ ने आठनेर पहुंचकर कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया था। भाजपा संगठन के द्वारा भी हर स्तर पर आठनेर नगर परिषद के 15 वार्डों में जीत हासिल करने के लिए रणनीति बनाई गई है।

चिचोली में प्रचार तेज

नगर परिषद चिचोली में भी भाजपा और कांग्रेस के द्वारा 15 वार्डों में जीत हासिल करने के लिए प्रचार अभियान को तेज कर दिया है। भाजपा के स्थानीय और जिला स्तर के नेताओं द्वारा लगातार जन संपर्क किया जा रहा है। कांग्रेस के नेता भी प्रचार अभियान में जुटे हुए हैं ताकि इस बार यहां पर कांग्रेस की नगर सरकार बनाई जा सके। चुनाव प्रचार के लिए मात्र दो दिन का समय शेष रह गया है इस कारण से राजनीतिक दलों के द्वारा हर मतदाता तक पहुंचने के लिए प्रयास किया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close