बैतूल। लोकसभा चुनाव के नतीजे बैतूल संसदीय क्षेत्र के लिए एक नया इतिहास रच गए। भाजपा प्रत्याशी को संसदीय क्षेत्र के मतदाताओं ने अब तक की सबसे बड़ी जीत दी है। पांच माह पहले ही संसदीय क्षेत्र की 8 विधानसभा सीटों में से 4 सीटें गवाने वाली भाजपा को हर विधानसभा क्षेत्र से अप्रत्याशित विजय हासिल हुई है। बैतूल संसदीय क्षेत्र में भाजपा को अब तक के 16 लोकसभा चुनावों में सबसे बड़ी जीत हासिल हुई है। भाजपा प्रत्याशी दुर्गादास (डीडी) उइके 3 लाख 60 हजार मतों से जीते हैं। बैतूल संसदीय सीट पर भाजपा को 8 लाख 11 हजार 248 वोट मिले हैं, जबकि कांग्रेस प्रत्याशी को रामू टेकाम को 4 लाख 51 हजार 7 वोट से संतोष करना पड़ा।

ज्योति धुर्वे ने दर्ज की थी इतनी बड़ी जीत

इसी तरह साल 2014 में हुए चुनाव में भाजपा प्रत्याशी ज्योति धुर्वे ने कांग्रेस के अजय शाह को 3 लाख, 28 हजार, 614 वोट के अंतर से पराजित किया था। वहीं, वर्ष 2009 में ज्योति धुर्वे ने कांग्रेस के ओझाराम इवने को 97317 मतों से परास्त किया था। वर्ष 2004 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के पितृपुरूष विजयकुमार खंडेलवाल ने कांग्रेस के राजेंद्र जायसवाल को 1 लाख, 57 हजार, 540 मतों के अंतर से पराजित किया था। वर्ष 2014 में भाजपा को जब रिकॉर्ड मतों से जीत मिली थी तब यह आंकलन लगाया जा रहा था कि इतनी बड़ी जीत अब शायद ही किसी को मिल पाए, लेकिन भाजपा प्रत्याशी दुर्गादास उइके ने इस मिथक को तोड़ दिया और बैतूल संसदीय क्षेत्र से ऐतिहासिक जीत हासिल की है।

भाजपा प्रत्याशी ने कहा

भाजपा प्रत्याशी दुर्गादास (डीडी) उइके ने अपनी जीत को लेकर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लागू की गई जनकल्याणकारी योजनाओं, राष्ट्रवाद और देश की सुरक्षा का ही नतीजा है कि आज पूरे देश में श्री मोदी के नेतृत्व में भाजपा ऐतिहासिक जीत दर्ज करने में कामयाब हुई है। मैं अपने लोकसभा क्षेत्र के उन सभी मतदाताओं के प्रति कृतज्ञ हूं, जिन्होंने अपने स्वविवेक से मुझे इस चुनाव में जीत की ओर अग्रसर किया। मैं भी अपनी ओर से संसदीय क्षेत्र के निवासियों को आश्वस्त करता हूं कि आने वाले समय में लोकसभा क्षेत्र और जनता के विकास में कोई कोर कसर नहीं छोड़ूंगा।

Posted By: Arvind Dubey

fantasy cricket
fantasy cricket