बैतूल। कोविड-19 कोरोना वायरस संक्रमण के संभावित जोखिम को दृष्टिगत रखते हुए जिले की समस्त शासकीय चिकित्सा संस्थाओं में आगामी आदेश तक किसी भी मरीज से कोई पंजीयन शुल्क या अन्य शुल्क नहीं लिया जाएगा। इस संदर्भ में वरिष्ठ कार्यालय से आदेश जारी कर निर्देशित किया गया है। डॉ. चौरसिया ने बताया कि 14 अप्रैल तक देशव्यापी लॉक डाउन किया गया है एवं शासन द्वारा विभिन्ना आदेशों के माध्यम से आम जनता को राहत प्रदान की जा रही है।

-----

ड्यूटी पर कार्यरत स्टाफ नर्सों को लाने-ले जाने हेतु परिवहन एवं आवासीय व्यवस्था के निर्देश

बैतूल। सीएमएचओ डॉ. जीसी चौरसिया ने बताया कि कोई भी कोरोना पॉजीटिव मरीज यदि जिला चिकित्सालय में भर्ती होता है तो ड्यूटी पर कार्यरत स्टॉफ को आवश्कतानुसार इमरजेंसी की स्थिति में लगातार ड्यूटी करनी पड़ सकती है। जिससे संक्रमण फैलने का अंदेशा रहता है, इस स्थिति में शासन द्वारा आवास, भोजन एवं परिवहन की व्यवस्था उपलब्ध कराई जाएगी। कोरोना वायरस कोविड-19 के उपचार हेतु जिला चिकित्सालय एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में ड्यूटी पर कार्यरत स्टाफ नर्सों को ड्यूटी के लिये घर से लाने व घर वापस छोड़ने के निर्देश सम्पूर्ण जिले हेतु जारी किये गए हैं।

------

आबकारी अमले ने एक लाख से ज्यादा राशि भेंट की

बैतूल। जिला आबकारी अधिकारी सुरेन्द्र कुमार उरांव ने बताया कि जिले में पदस्थ आबकारी अमले द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव के दृष्टिगत मुख्यमंत्री राहत कोष में एक लाख 4 हजार 210 रुपये की राशि भेंट की गई है। श्री उरांव ने बताया कि जिला आबकारी अधिकारी, एक सहायक जिला आबकारी अधिकारी, 5 आबकारी उप निरीक्षकों द्वारा 5 दिवसों का तथा शेष स्टॉफ द्वारा एक-एक दिन का अपना वेतन कुल राशि 104210 रुपये मुख्यमंत्री राहत कोष (कोविड 19 राहत फंड) में जमा किया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस