बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। कोविड-19 के अंतर्गत समस्त स्वास्थ्य कर्मचारियों के स्थाइ सह संविदा में संविलियन किए जाने की मांग को लेकर गुरुवार स्वास्थ्य कर्मचारियों ने कोविड-19 स्वास्थ्य संगठन के बैनर तले जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। गौरतलब है कि कोविड-19 की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग ने अस्थाई स्वास्थ्य कर्मियों की सेवाएं ली थीं जिन्हें 31 अक्टूबर को हटाने के आदेश जारी कर दिया गया है। इस आदेश से इन कर्मचारियों में नाराजगी है। इसी को लेकर संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष योगेश रघुवंशी के नेतृत्व में कलेक्टर, सीएमएचओ और भाजपा विधायक डॉ योगेश पंडाग्रे को मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री के नाम का ज्ञापन सौंपा है। इस संबंध में श्री रघुवंशी का कहना है मौजूदा सरकार स्वास्थ्य कर्मियों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। ज्ञापन में बताया गया कि स्वास्थ्य कर्मियों ने अपनी जान जोखिम में डालकर पूरी निष्ठा और ईमानदारी से लगन से कोरोना मरीजों की सेवा की है। कर्मचारियों को हटाने से उनके परिवार पर प्रभाव पड़ेगा। इसलिए अस्थाई अनुबंध खत्म कर सदैव के लिए स्थाई या संविदा में संविलियन किया जाए। बताया गया है कि जिले में 63 नियुक्तियां हुई थी जिसमें आयुष डॉक्टर, फार्मासिस्ट, एएनएम और लैब टेक्नीशियन शामिल थे। स्वास्थ्य विभाग ने पूरे प्रदेश में आदेश जारी किया है जिसमें कई स्वास्थ्य कर्मियों को हटाने के आदेश जारी किए गए हैं। ज्ञापन सौंपने वालों में जिला प्रभारी डॉ संदीप लोणारे, जिला अध्यक्ष परमेश्वर धोटे, डॉक्टर शैलेंद्र सोनी एवं समस्त डॉ व पैरामेडिकल स्टाफ मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस