मुलताई (नवदुनिया न्यूज)। ग्राम सांवरी में पद्मा एकादशी पर सैकड़ों वर्षो से चली आ रही अध्यात्मिक परंपरा का निर्वहन ग्रामीणों द्वारा मिल जुलकर किया गया। एकादशी के पावन पर्व पर ग्रामीणों ने परंपरा अनुसार भगवान विष्णु के अवतार श्रीराम एवं श्री कृष्ण की प्रतिमाएं डोल में स्थापित कर पूजन के बाद शोभायात्रा गांव में निकाली गई जिसमें संपूर्ण ग्रामवासी शामिल हुए। इस दौरान ग्रामीणों ने पूरे भक्तिभाव से डोल को कांधों पर रखा तथा गांव की परिक्रमा की। गाजे बाजे तथा धूमधाम से प्रतिमा को डोल में लेकर रात में शोभायात्रा निकाली गई।

ग्रामीण श्याम सिंह रघुवंशी ने बताया कि इस पावन अवसर पर श्रीश्री 1008 कनक बिहारी महाराज का भी गांव में आगमन हुआ जिनके सानिध्य एवं मार्गदर्शन में पूजन का कार्यक्रम संपन्ना हुआ। ग्रामीणों ने बताया कि उनके पुरखों से यह धार्मिक तथा अध्यात्मिक परंपरा का निर्वहन किया जा रहा है जिसमें गांव के सभी लोग शामिल होते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि इस आयोजन में शामिल होने गांव से बाहर शहरों अथवा अन्य स्थानों पर रहने वाले लोग भी गांव पहुंचते हैं तथा आयोजन में शामिल होते हैं। उन्होने बताया कि पीढ़ी दर पीढी़ यह परंपरा चली आ रही है जिसमें युवा पीढ़ी भी पूरी भक्ति श्रद्धा एवं आस्था के साथ आयोजन में शामिल होती है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local