बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। श्री कृष्ण पंजाब सेवा समिति के तत्वावधान में चल रही रामलीला अब रोमांचक दौर में पहुंच चुकी है। गुरुवार को रामलीला के आखरी दिन दर्शकों को राम-रावण सेना के बीच निर्णायक संघर्ष देखने को मिला। युद्ध की शुरुआत में लक्ष्मण शक्ति लगते ही मूर्छित हो जाते हैं, लक्ष्मण की यह दशा देख श्रीराम भी बिलख पड़ते हैं। वहीं संजीवनी से लक्ष्मण जी ठीक भी हो जाते हैं। इसके बाद रावण सेना के मेघनाथ, कुंभकरण सहित अन्य कई योद्धा मारे जाते हैं। अंत में राम-रावण के बीच भीषण युद्ध की शुरुआत होती है।

नवयुवक रामलीला मंडल बरहापुर के पारंगत कलाकारों ने रामलीला की प्रस्तुति देते हुए दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। गुरुवार को लक्ष्मण मूर्छा, मेघनाथ-कुंभकरण वध और राम-रावण युद्ध का मंचन किया गया। रावण की ओर से मैत्री संधि का प्रस्ताव ठुकरा दिए जाने का समाचार मिलने के बाद राम-रावण सेना के बीच युद्ध शुरू हो जाता है। रावण के पराक्रमी पुत्र मेघनाथ और लक्ष्मण की ओर से एक से बढ़कर एक शक्तिशाली बाणों का प्रयोग होता है। इस बीच मेघनाथ ब्रह्माजी से पाए ब्रह्म शक्ति बाण का उपयोग कर लक्ष्मण जी को मूर्छित कर देते हैं। राजवैध सुखेन की सलाह पर हनुमान जी संजीवनी बूटी लाते हैं और लक्ष्मण स्वस्थ हो जाते हैं। इसके बाद मेघनाथ राम सेना को नागपाश में जकड़ लेते हैं। हालांकि जामवंत बड़ी आसानी से सभी को इसकी जकड़ से मुक्त करवा लेते हैं। इसके बाद मेघनाथ अजेय शक्तियां हासिल करने आसुरी यज्ञ करते हैं, लेकिन राम सेना यज्ञ का विध्वंस कर देती है। इसके बाद लक्ष्मण जी मेघनाथ का वध कर देते हैं। युद्ध के दौरान रावण सेना के महारथी कुंभकरण और अहिरावण का भी वध हो जाता है।

निर्णायक युद्ध की :

रावण सेना के सभी योद्धाओं के मारे जाने के बाद भी महाबली रावण हार नहीं मानता है और अंततः स्वयं युद्ध मैदान में उतरता है। इसके बाद भगवान श्रीराम और रावण के बीच भीषण युद्ध शुरू होता है। दोनों ही ओर से एक से बढ़कर एक शक्तिशाली बाण चलाए जाते हैं। इस बीच कभी रावण श्रीराम पर भारी पड़ते हैं तो कभी श्रीराम रावण पर भारी पड़ते हैं। युद्ध के दौरान कभी जोरदार गर्जना होती है तो कभी रावण चमत्कारिक शक्तियों के सहारे राम सेना में भय उत्पन्ना करने की कोशिश करता है। यह नजारे देख कर कई बार तो रामलीला देख रहे बच्चे ही नहीं बल्कि बड़े भी सहम जाते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local