बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। प्राचीन सनातन काल से शक्ति के पर्व पर परंपरा है कि शस्त्र पूजन किया जाता रहा है। यह हमारी सनातन परंपरा है, पूर्वकाल में हमें शस्त्र एवं शास्त्रों की पूर्ण शिक्षा भी दी जाती रही है। हमारे जीवन में शस्त्र एवं शास्त्र दोनों की महत्वपूर्ण भूमिका है। दोनों का ही काम जीवन को निखारने और संवारने तथा संभालने का है। जहां शस्त्र हमारी रक्षा करता है वहीं शास्त्र हमको जीवन उपार्जन की व्यवस्था बनाता है। कई बार शस्त्र के माध्यम से भी जीवन उपार्जन हो जाता है, और शास्त्रों के माध्यम से ज्ञान। अतः अपने जीवन में दोनों की ही महत्वपूर्ण आवश्यकता है, शस्त्र एवं शास्त्र हमारे लिए दोनों आवश्यक है।

यह बात गुरुवार को नगर के अखाड़ा चौक जय भोले मंडल पर विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल द्वारा आयोजित शस्त्र पूजन कार्यक्रम में गौ रक्षा प्रमुख एवं विभाग संयोजक बजरंग दल कृष्णकांत गावंडे ने व्यक्त की। उन्होंने बताया हमारे देवी देवताओं के हाथ में शास्त्र और शस्त्र दोनो है, इनसे प्रेरणा लेकर हमें भी आत्मरक्षा एवं धर्म की रक्षा के लिए शस्त्र का उपयोग करना चाहिए। हिंदू समाज शस्त्र की उपयोगिता भूल गया है आने वाली पीढ़ी को हमारी इन्ही परंपराओं को विरासत के रूप में देना चाहिए ताकि वे इन्हें आत्मसात करके स्वस्थ समाज स्वस्थ राष्ट्र के निर्माण में सहभागी बने। कार्यक्रम में उपस्थित जिला संगठन मंत्री महेश कर्ण, जिला मंत्री राजेश प्रजापति, जिला सुरक्षा प्रमुख मोनू यादव, जिला गौ रक्षा प्रमुख राजू ठाकुर, नगर अध्यक्ष अभिषेक वर्मा, नितू पटेल, राजेश सोनी, अजय उदयपुरे, मोनू राठौर, विक्की राठौर, आशीष वर्मा, महेंद्र वर्मा, हेमंत वर्मा, सौरभ वर्मा, अंशुल वर्मा, ऋषि ,राजकुमार वर्मा, मोनू महाराज, मोनू, विक्की वर्मा, लक्की वर्मा आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local