Betul News: बैतूल। जिले के सात नगरीय निकायों में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के लिए सोमवार को हुए चुनाव में भाजपा को तीन निकाय बैतूल, बैतूलबाजार और भैंसदेही में सफलता मिली है। कांग्रेस ने घोड़ाडोंगरी नगर परिषद में सीधे सफलता पाई और मुलताई नगर पालिका में भाजपा के बागी उम्मीदवार को समर्थन देकर जिता दिया। घोड़ाडोंगरी में निर्दलीय अध्यक्ष की कुर्सी पर काबिज हो गए। आमला नगर पालिका में अध्यक्ष पद के लिए तीन प्रत्याशियों के द्वारा नामांकन पत्र जमा किए थे। मतदान में तीनों को छह-छह वोट मिले जिसके बाद पर्ची निकालकर फैसला किया गया। इसमें कांग्रेस के प्रत्याशी का नाम निकल गया। इससे यहां पर कांग्रेस अध्यक्ष पद पर कब्जा करने में सफल हो गई।

बैतूलबाजार नगर परिषद में दुर्गावती वर्मा बनीं अध्यक्ष:

नगर परिषद बैतूल बाजार में अध्यक्ष पद के चुनाव में भाजपा की घोषित प्रत्याशी दुर्गावती संजय वर्मा अध्यक्ष बन गई हैं। यहां पर कांग्रेस ने पूनम ललित राठौर को अपना प्रत्याशी बनाया था। जिन्हें मात्र तीन वोट मिले वहीं भाजपा की दुर्गावती संजय वर्मा को 12 वोट मिले हैं। गौरतलब है कि पहले संजय वर्मा भी नगर परिषद के अध्यक्ष रह चुके हैं। इस बार उनकी पत्नी को अध्यक्ष बनने का अवसर मिला है। 15 पार्षदों वाली नगर परिषद मेंं भाजपा के 12 और कांग्रेस के तीन पार्षद निर्वाचित हुए थे।

पार्वती बारस्कर बनीं नगरपालिका बैतूल की अध्यक्ष

नगरपालिका बैतूल के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष के चुनाव में भाजपा ने पार्वती बाई बारस्कर को अध्यक्ष पद का प्रत्याशी बनाया था और कांग्रेस ने नंदिनी तिवारी को मैदान में उतारा था। मतदान में भाजपा की पार्वती बारस्कर अध्यक्ष पद का चुनाव जीत गईं। नगरपालिका बैतूल के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष का निर्वाचन बाल मंदिर में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अमनबीर सिंह बैंस की उपस्थिति में हुआ। अध्यक्ष पद के लिए भाजपा की ओर से पार्वती बारस्कर ने नामांकन दाखिल किया वहीं कांग्रेस की ओर से नंदिनी तिवारी ने अपना फार्म जमा किया। मतदान के बाद घोषित किए गए परिणाम में पार्वती बारस्कर को 22 मत प्राप्त हुए और कांग्रेस की नंदिनी तिवारी को 11 मत प्राप्त हुए। गौरतलब है कि बैतूल नगरपालिका के 33 वार्डों में 23 वार्ड पर भाजपा चुनाव जीती थी और 10 वार्ड पर कांग्रेस चुनाव जीती थी। कांग्रेस के पास सिर्फ 10 वोट ही थे लेकिन मतदान में उन्हें 11 वोट प्राप्त हुए हैं।

शाहपुर में निर्दलीय रोहित नायक बने अध्यक्ष

नवगठित नगर परिषद शाहपुर में पहली बार हुए चुनाव में भाजपा को तगड़ा झटका लगा है। यहां पर भाजपा के सूर्यकांत सोनी को अध्यक्ष पद का प्रत्याशी घोषित किया था। जबकि निर्दलीय रोहित नायक भी अध्यक्ष पद के लिए मैदान में उतरे थे। यहां कांग्रेस ने अध्यक्ष पद के लिए कोई उम्मीदवार मैदान में नहीं उतारा। निर्दलीय अध्यक्ष पद उम्मीदवार रोहित नायक आठ वोट हासिल कर अध्यक्ष बन गए। जबकि भाजपा के प्रत्याशी सूर्यकांत सोनी को मात्र छह वोट से ही संतोष करना पड़ा। वहीं एक वोट रिजेक्ट हो गया। रोहित नायक को भाजपा से टिकट नहीं मिलने पर उन्होंने 40 भाजपाईयों के साथ इस्तीफा दे दिया था और चुनाव मैदान में कूद गए थे। 15 पार्षदों वाली नगर परिषद शाहपुर में नौ निर्दलीय और भाजपा के चार एवं कांग्रेस के दो पार्षद चुनाव जीते थे।

मुलताई में भाजपा की बागी नीतू परमार बनीं अध्यक्ष

मुलताई नगर पालिका अध्यक्ष के चुनाव में भारी उलटफेर दिखाई दिया। चुनाव में भाजपा के नौ और कांग्रेस के मात्र छह पार्षद चुनाव जीते थे। सोमवार को अध्यक्ष पद के चुनाव से पहले ही भाजपा में दो फाड़ हो गए। भाजपा से बगावत कर पार्षद नीतू प्रहलाद परमार कांग्रेस समर्थन से अध्यक्ष बन गईं। नीतू को भाजपा के तीन पार्षद द्वारा क्रास वोटिंग करके अध्यक्ष बना दिया है। चुनाव में भाजपा की घोषित उम्मीदवार वर्षा गढ़ेकर को छह वोट मिले। वहीं भाजपा से बगावत कर अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ीं नीतू प्रहलाद परमार को नौ वोट प्राप्त हुए। उन्होंने तीन वोट से जीत दर्ज कराई।मुलताई नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिए भाजपा की ओर से वर्षा गढ़ेकर और पार्टी से बगावत कर नीतू परमार ने फार्म भरा था। कांग्रेस की ओर से वंदना साहू द्वारा फार्म भरा गया था किंतु कांग्रेस की वंदना साहू ने अपना नामांकन वापस ले लिया। कांग्रेस के पार्षदों ने भाजपा से बगावत करने वाली नीतू परमार को वोट दे दिए जबकि भाजपा के भी तीन पार्षदों ने पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी को वोट न देकर बागी का समर्थन कर दिया। इससे नीतू प्रह्लाद परमार कांग्रेस के समर्थन से अध्यक्ष बन गईं।

आमला नपा में पर्ची से कांग्रेस के नितिन गाडरे बने अध्यक्ष

आमला नगर पालिका अध्यक्ष चुनाव में अध्यक्ष पद का फैसला लाट से किया गया। अध्यक्ष पद के लिए नामांकन जमा करने वाले तीनों उम्मीदवारों को बराबर बराबर मत मिले थे। लाट से हुए फैसले में कांग्रेस के नितिन गाडरे नगर पालिका अध्यक्ष घोषित किया गया। आमला नगर पालिका में कुल 18 पार्षद हैं। चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के आठ-आठ पार्षद जीते थे और दो निर्दलीय ने जीत हासिल की थी। अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस से नितिन गाडरे, भाजपा के समर्थन से निर्दलीय काशीबाई और कांग्रेस से विद्रोह करके खुशबू अतुलकर ने अपने नामांकन पत्र जमा कर दिए थे। मतदान में तीनों प्रत्याशियों को छह-छह वोट मिलने से फैसला लाट से किया गया। निर्वाचन अधिकारी की मौजूदगी में एक बालिका से पर्ची निकलाई गई। इसमें कांग्रेस के नितिन नगर पालिका अध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं। जो परिणाम सामने आए हैं उससे लग रहा है कि यहां कांग्रेस के भी दो पार्षद बागी हुए होंगे तभी कांग्रेस के उम्मीदवार को छह वोट मिले। इसी तरह से भाजपा के भी तीन बागी हुए होंगे तभी भाजपा समर्थित निर्दलीय काशीबाई को छह वोट मिले। इससे विद्रोही खुशबू को स्वयं का एक और पांच वोट बागियों के हासिल हुए होंगे।

भैंसदेही में भाजपा के मनीष सोलंकी निर्विरोध अध्यक्ष बने

नगर परिषद भैंसदेही में भाजपा के मनीष सोलंकी निर्विरोध अध्यक्ष बन गए। यहां पर भाजपा के 11 और कांग्रेस के चार पार्षद जीतकर आए थे। पिछड़ा वर्ग के लिए अध्यक्ष का पद आरक्षित होने के कारण भाजपा की ओर से मनीष सोलंकी का नामांकन पत्र जमा किया गया था। कांग्रेस की ओर से परी शाएब विंध्यणी ने नामांकन पत्र जमा किया था। निर्वाचन अधिकारी के द्वारा कांग्रेस प्रत्याशी का नामांकन पत्र निरस्त कर दिया गया जिससे भाजपा के मनीष सोलंकी निर्विरोध अध्यक्ष चुन लिए गए।

घोड़ाडोंगरी में कांग्रेस की मीरावंती उइके अध्यक्ष निर्वाचित:

नवगठित नगर परिषद घोड़ाडोंगरी में पहली बार हुए चुनाव में कांग्रेस की मीरावंती उइके अध्यक्ष निर्वाचित हो गई हैं। सोमवार को अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद हेतु चुनाव संपन्न कराए गए। अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस की ओर से मीरावंती उइके एवं भाजपा की ओर से नेहा उइके ने नामांकन पत्र जमा किए। मतदान के बाद हुई मताें की गिनती में कांग्रेस की मीरावंती उइके को आठ एवं भाजपा की नेहा उइके को सा वोट हासिल हुए। एक वोट से कांग्रेस की मीरावंती उइके ने जीत दर्ज की।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close