बैतूल, नवदुनिया प्रतिनिधि। जिले के आमला थाना क्षेत्र में बुधवार शाम खरपड़ा नदी में भाई, बहन और तीन साल की बच्ची बह गई। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन अंधेरा होने से तलाश नही की जा सकी है। गुरुवार को सुबह से तलाश प्रारंभ की गई तो मां और बेटी का शव नदी में मिल गया। भाई की तलाश की जा रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बोरदेही थाना क्षेत्र के ग्राम बिछवा निवासी राजेन्द्र पिता रमेश ओमकार अपनी बहन संध्या पति राजू भादेकर और उसकी तीन साल की बेटी लावण्या तनु भादेकर को ग्राम लीलाझर थाना मुल्ताई से राखी मनाने के लिए बाइक से लेकर घर जा रहा था। बिस्खन और खारी के बीच खरपडा नदी में बाढ़ होने से पुल पर पानी था। इसके बाद भी उन्‍होंने पुलिया पार करने की कोशिश की और पानी के तेज बहाव में वे तीनों बाइक सहित बह गए। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन नदी में पानी अधिक होने और अंधेरे की वजह से तलाश नही की जा सकी। गुरुवार सुबह बैतूल से एसडीईआरएफ की टीम के पहुंचने पर तलाश प्रारंभ की गई। नदी का जल स्तर कम होने से सीपीडोह के पास मां-बेटी के शव झाड़ियों में फंसे मिल गए। राजेंद्र की तलाश में टीम जुटी हुई है।

जिले में लगातार हो रही वर्षा के कारण नदी नालों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। ऐसे में भी लोग पुल और पुलिया पर पानी होने के दौरान भी पार करने का प्रयास करते हैं और जान गंवा देते हैं। जिले में गुरुवार सुबह तक जिले में औसत 71 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है। पिछले 24 घंटे में जिले के भैंसदेही विकासखंड में सर्वाधिक 238 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है। इस सीजन में अब तक जिले में कुल 1137.5 मिलीमीटर (45.5 इंच) वर्षा दर्ज की गई है। गत वर्ष इस अवधि में 633 मिलीमीटर वर्षा हुई थी। पिछले 24घंटे में शाहपुर विकासखंड में 91.2 मिलीमीटर, भीमपुर में 80 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।

11 घंटे बाद हाइवे पर शुरू हुआ आवागमन: बैतूल भोपाल नेशनल हाइवे 69 पर शाहपुर में माचना नदी उफान पर होने से बुधवार सुबह 10 बजे से यातायात बंद हो गया था। 11 घंटे बाद रात करीब 9 बजे पुल से पानी नीचे उतरने के बाद यातायात शुरू हुआ। गुरुवार सुबह से वर्षा थम गई है, जिससे लोगों को राहत मिली है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close