Betul News: बैतूल (नईदुनिया प्रतिनिध‍ि)। पहली बार भैंसदेही पहुंचे कलेक्टर अमनबीर सिंह की राह एक छात्रा ने रोक दी। उनके वाहन के सामने सड़क पर बैठकर छात्रा ने अपनी समस्या का निराकरण करने की गुहार लगा दी। अनूठे ढंग से किए गए विरोध को देखकर कलेक्टर भी चौंक गए। वे तत्काल ही छात्रा के पास पहुंचे और उससे चर्चा कर जल्द ही समस्या का समाधान कराने का भरोसा दिया।

कलेक्टर ने छात्रा को स्वयं का मोबाइल नंबर देते हुए कहा कि 10 दिन में समस्या का हल न हो तो मुझसे संपर्क करना। इसके बाद छात्रा सड़क से उठी और कलेक्टर वाहन में बैठकर रवाना हो पाए। दरअसल, भैंसदेही निवासी पूजा मालवीय ने वर्ष 2019 में शासकीय कन्या स्कूल में कक्षा 12 वीं में नियमित छात्रा के रूप में पढ़ाई की और परीक्षा भी दी थी, जब उन्हें माध्यमिक शिक्षा मंडल से अंकसूची दी गई तो स्वाध्यायी बता दिया गया।

पूजा ने कलेक्टर को बताया कि वह अकेली ही इस गड़बड़ी का शिकार नहीं हुई, बल्कि 33 छात्राएं हैं, जिन्हें नियमित होने के बाद भी स्वाध्यायी बताया गया। पूजा के साथ अन्य छात्राओं ने जनसुनवाई में पहुंचकर भी अपनी समस्या बताई थी, लेकिन संतोषजनक जवाब न मिलने के कारण वह कलेक्टर के वाहन के सामने रास्ता रोककर बैठ गई।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags