Betul News :बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के बैतूल बाजार नगर के दो वार्डों में उल्टी-दस्त का प्रकोप तेजी से फैल रहा है। मंगलवार को सुबह एक 16 वर्षीय किशोरी की मौत हो जाने से लोगों में प्रशासन और नगर पालिका के खिलाफ बेहद आक्रोश पनप रहा है। बैतूल बाजार के मालवीय और भवानी वार्ड में 10 अगस्त से लोगों को उल्टी-दस्त की शिकायत प्रारंभ हुई। एक के बाद एक कई घरों में लोग उल्टी-दस्त से पीड़ित होने लगे। लोगों ने स्थानीय डाक्टरों से उपचार कराने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को इसकी जानकारी दी। नगर परिषद ने लगातार उल्टी-दस्त से लोगों के पीड़ित होने के बाद भी कोई ठोस कार्रवाई करने की जहमत नहीं उठाई जिसका नतीजा यह हुआ कि मंगलवार को एक किशोरी की मौत हो गई जबकि तीन बच्चों को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बताया गया है कि मालवीय और भवानी वार्ड में नगर परिषद ने कुएं और फिल्टर प्लांट के माध्यम से पानी की आपूर्ति की जा रही है। लोगों को आशंका है कि दूषित पानी के कारण ही दोनों वार्डों में लोग उल्टी-दस्त की बीमारी से पीड़ित हो रहे हैं। लोगों ने 10 अगस्त को ही स्थानीय जन प्रतिनिधियों को सूचना दी थी लेकिन किसी ने कोई कदम नहीं उठाया। स्वास्थ्य विभाग ने रस्म अदायगी करते हुए कुछ घरों का सर्वे कर लिया गया। अचानक 14 अगस्त से उल्टी-दस्त का प्रकोप तेजी से बढ़ने लगा। क्षेत्र के रविंद्र गिल्हारे की 16 साल की बेटी रीना को सोमवार शाम से उल्टी-दस्त की शिकायत हुई। सुबह जब उसकी हालत बेहद गंभीर हो गई तब परिवार के लोग जिला अस्पताल लेकर पहुंचे।अस्पताल में चिकित्सक द्वारा उसे मृत घोषित कर दिया गया। किशोरी की मौत की सूचना मिलने के बाद मंगलवार शाम को प्रशासनिक और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी बैतूलबाजार पहुंचे। लोगों से पूछताछ करने के बाद लौट आए हैं। सेहरा के बीएमओ उदय प्रताप तोमर ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दोनों वार्डों के 304 घरों का सर्वे कर लिया है। 618 लोगों को ओआरएस के पैकेट के साथ दवाएं बांटी गईं हैं। तीन बच्चों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है। यहां पर एक वाहन की व्यवस्था कर दी गई है ताकि गंभीर मरीज को तत्काल जिला अस्पताल पहुंचाया जा सके।

दूषित पानी से फैल रही बीमारी

बीएमओ तोमर ने बताया कि उल्टी-दस्त की शिकायत सिर्फ दूषित पानी के कारण ही बढ़ रही है। क्षेत्र में एक नलकूप का पानी कुएं में पहुंचाया जाता है और उसके बाद कुएं में भरे गए पानी की घरों में आपूर्ति की जाती है। इसके अलावा फिल्टर प्लांट से भी घरों में पानी की आपूर्ति की जा रही है। 10 अगस्त को भी नगर परिषद के द्वारा पानी के सैंपल लिए गए थे लेकिन अब तक रिपोर्ट आई है या नही इसका पता ही नही है। संभावना तो यही है कि दूषित पानी के कारण ही उल्टी-दस्त का प्रकोप बढ़ रहा है।

पानी की आपूर्ति बंद कराई

एक बालिका की मौत होने के बाद नगर परिषद का अमले की नींद खुली। मंगलवार शाम को प्रभारी सीएओ अक्षत बुंदेला बैतूलबाजार पहुंचे और कुएं एवं फिल्टर से पानी की आपूर्ति बंद कराई। लोगों के घरों में आरओ वाले पानी की कैन पहुंचाने की व्यवस्था बनाई जा रही है। बुंदेला ने बताया कि मेरे संज्ञान में आज ही यह मामला आया है। तत्काल ही पानी की आपूर्ति बंद कराई गई है। पूर्व में पानी के जो सैंपल लिए गए थे उसकी रिपोर्ट का पता नही है। आज फिर से सैंपल लिए जा रहे हैं जिसकी रिपोर्ट 12 घंटे बाद मिल जाएगी।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close