मुलताई (नवदुनिया न्यूज)। पवित्र नगरी में दीपावली से एक दिन पूर्व रविवार छोटी दीपावली पर बाजार में जमकर रौनक नजर आई। दीपावली के लिए नगर सहित ग्रामीण अंचलों से पहुंचे ग्राहकों की खरीदी से बाजार गुलजार नजर आया तथा मुख्य मार्ग सहित अन्य मार्गो पर भारी भीड़ सुबह से लेकर रात तक बनी रही। कपड़ा, रेडीमेड, आभूषणों, श्रृंगार, इलेक्ट्रानिक्स सहित अन्य दुकानों पर लोगों ने दीपावली के लिए खरीदी की। दीपावली के पूर्व रेडीमेड कपड़ों की दुकानों पर सबसे अधिक भीड़ नजर आई तथा ग्रामीण अंचलों से भी लोगों ने कपड़ों की खरीदी की। इसके साथ ही पूजन सामग्री की दुकानों पर लोगों का तांता लगा रहा तथा दीपावली के लिए लोग पूजन सामग्री खरीदते रहे। इस दौरान कमल का फूल तथा मोरपंख आदि की भी जमकर बिक्री हुई। मान्यता के अनुसार दीपावली पर मोरपंख तथा कमल पुष्प पूजन में रखना शुभ माना जाता है। इसके अलावा मुख्य मार्ग पर जगह-जगह अस्थाई तौर पर लगी मिष्ठान्न की दुकानों से भी लोगों ने खूब विभिन्न प्रकार की मिठाइयां खरीदी। रविवार सुबह से लेकर रात तक पूरे बाजार में चहल पहल रही तथा दुकानदारों की जमकर बिक्री हुई।

100 रुपये से 80 रुपये किलो तक बिके गेंदे के फूल

नगर में दीपावली पर्व पर मालाओं सहित सजावट के लिए जमकर गेंदे के फूलों की बिक्री होती है। इसके लिए पूरे क्षेत्र में गेंदे के फूल की खेती की जाती है। रविवार सुबह से ही वाहनों से बोरियों में भर भर कर गेंदे के फूल बिक्री के लिए लाए गए इसके बावजूद गेंदे के फूलों की मांग अधिक होने से फूल 100 रुपये से लेकर 80 रुपये किलो तक बिक्रे। मार्ग के दोनों ओर कृषक गेंदे के फूल लेकर बैठे हुए नजर आए जिसमें पीले तथा सिंदूरी दो प्रकार के रंगों के फूलों की बिक्री हुई। बताया जा रहा है कि सोमवार दीपावली पर्व पर भी पूरे दिन फूलों की बिक्री होगी जिसके लिए बड़ी मात्रा में फूल आएंगे।

चायना की झालर एवं प्लास्टिक के फूलों की बिक्री

घरों क सजावट के लिए एक तरफ जहां चायना की झालर खूब बिक्री वहीं प्लास्टिक के गेंदे के फूलों जैसी दिखने वाली मालाओं की भी बिक्री हुई। विगत कुछ वर्षों से गेंदे के समान दिखने वाली प्लास्टिक की मालाओं का चलन बढ़ा है जिससे इस वर्ष बाजार में हर दुकानों में मालाएं नजर आईं। इसके साथ ही लाइटिंग के लिए चायना की झालर लोगों की पहली पसंद रही तथा लोगों ने सफेद, गोल्डन सहित रंग बिरंगी चायना की झालर खरीदकर अपने घरों को सजाया।

भीड़ के बावजूद ट्रैफिक व्यवस्था रही दुरूस्त

इस वर्ष वाहनों की पार्किग की व्यवस्था होने से भीड़ के बावजूद मुख्य मार्ग पर कहीं अव्यवस्था नजर नहीं आई। चारपहिया वाहनों का नगर के मध्य से प्रवेश बंद करा दिया गया था जिससे ट्रैफिक जाम की स्थिति निर्मित नहीं हुई। मुख्य मार्ग पर पुरानी कन्या शाला की भूमि सहित मस्जिद के सामने वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था की गई थी जिससे मार्ग पर दो पहिया वाहन भी कम ही खड़े नजर आए। इसके साथ ही जगह जगह पुलिसकर्मियों की मौजूदगी से भी व्यवस्थाएं चुस्त दुरूस्त रहीं।

आज धूमधाम से होगा लक्ष्मी पूजन

नगर में सोमवार धूमधाम से दीपावली पर लक्ष्मी पूजन किया जाएगा जिसमें पूजन के उपरांत पटाखे भी चलाए जाएंगे। प्रशासन द्वारा पटाखों के लिए मेला स्थल पर दुकानें लगाई गई हैं जिससे अब पटाखे एक ही स्थान पर खरीदे जा सकते हैं। इस बार बड़ी संख्या में पटाखों की दुकानें लगी हैं जिससे ग्रामीण अंचलों के लोग सीधे पटाखा बाजार में पहुंच रहे हैं। पटाखा व्यापारी पिंटू खन्नाा, प्रभु सोनारे सहित अन्य लोगों ने बताया कि रविवार एवं सोमवार दोनों दिन जमकर पटाखों की बिक्री होगी। उन्होने बताया कि फिलहाल बारिश थमने से पटाखों की खासी बिक्री होने के आसार हैं।

मां लक्ष्मी की सुंदर मूर्तियां बनीं आकर्षण का केंद्र

मुलताई। नगर में इस वर्ष एक से बढ़कर एक मां लक्ष्मी की मूर्तियां बिक्री के लिए आई है जो आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं। मां लक्ष्मी की छोटी मूर्तियों की साज सजावट देखने योग्य है जिसमें नग एवं मीणा का वर्क किया गया है। मां लक्ष्मी की मूर्तियां बेहद खूबसूरत हैं जो सहज ही लोगों का ध्यान खींच रही है। एक से बढ़कर एक साज सजावट के सामान के साथ लक्ष्मी मूर्तियों की खूब बिक्री हो रही है तथा लोग मनपसंद मूर्तियां पूजन हेतु ले जा रहे हैं। मूर्तिकार मुन्नाा प्रजापति तथा श्याम प्रजापति ने बताया कि विगत कुछ वर्षो से जरी, गोटा, नग एवं मीणा के वर्क की मूर्तियां खूब पसंद की जा रही है जिससे बाजार में अब आकर्षक मूर्तियां ही नजर आ रही है। पहले जहां मिट्टी की सादी मूर्तियां की बिक्री पूजन के लिए होती थी वहीं कुछ वर्षो से लोगों ने साज सजावट वाली मूर्तियां पूजन के लिए ले जाना प्रारंभ कर दिया है जिससे इस वर्ष अधिकांश साज सज्जा वाली आकर्षक मूर्तियां ही नजर आ रही हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close