अधूरी सड़क बन रही है मुसीबत, किसान व व्यापारी हो रहे परेशान,

फोटो 7

अव्यवस्थाओं से घिरी हुई है सब्जी मंडी

छिंदवाड़ा। कृषि उपज मंडी कुसमेली अंतर्गत आने वाली गुरैया सब्जी मंडी के विकास के लिए कई कार्ययोजना बनाई गई, लेकिन अधिकांश कार्ययोजना भ्रष्टाचार के भेट चढ़ गई। जिसकी ना ही कोई जांच हुई ना ही भ्रष्टाचार करने वालों पर किसी तरह की कोई कार्रवाई हो पाई है। वर्तमान में गुरैया सब्जी मंडी में बारिश के कारण हो रही कीचड़ से किसान व व्यापारी परेशान है। मंडी के चारों तरफ सीसी मार्ग बनाया जाना था टेंडर प्रकिया भी हुई लेकिन वर्तमान तक कार्यपूर्ण ही नहीं हो पाया है। कहीं गिट्टी बिछाई गई है तो कुछ स्थानों पर ही सीमेंटीकरण किया गया है। मंडी प्रबंधन ने ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड कर दिया तथा कार्य पर रोक लगा दी तो ठेकेदार मंडी बोर्ड से कार्य करने की अनुमति ले आया उसके बाद भी निर्माण कार्य पूर्ण नहीं हो पाया है। अव्यवस्थाएं इतनी फैली हुई है कि कोई कार्य कभी पूरा ही नहीं हो पाया है जिसका खामियाजा स्थानीय व्यापारियों व प्रतिदिन आने वाले किसानों कोभुगतना पड़ रहा है।

- बनाई गई जांच चौकी अधूरी

गुरैया मंडी से मिलने वाला टैक्स लगातार गिरते आ रहा है जहां पर एक समय में प्रतिदिन टैक्स 30 हजार रुपए आता था तो वह वर्तमान में आधा भी नहीं बचा है। तीन तरफ से मंडी खुली हुई है जबकि एक ही मुख्य गेट पर टैक्स वूसला जाता है। ऐसे में मंडी प्रबंधन ने पीछे के तरफ दो जांच चौकियां बनाई लेकिन वर्तमान में यह जांच चौकियां भ्रष्ट्राचार की भेट चढ़ गई। वर्तमान में यह अधूरी पड़ी हुई है।

- नहीं बना बैंक व कैंटीन

मंडी प्रबंधन ने 45 लाख रुपए से शौचालयस, बैंक इमारत व कैंटीन बनाए जाने की कार्ययोजना कई वर्ष पहले बनाई थी। जिसमें से गुरैया सब्जी मंडी में सिर्फ शौचालय बन पाया है जिसमें बोर तो है लेकिन विधुत मोटर नहीं डल पाई है। बैंक की इमारत व कैंटीन के लिए जगह चिंहित की गई लेकिन वहां का अतिक्रमण मंडी प्रबंधन कई वर्षों में नहीं हटा पाया है। जिसके कारण बैंक व कैंटीन नहीं बन पाए हैं।

- नहीं हो रहा फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन

वर्तमान में कोरोना वायरस का खतरा लगातार बना हुआ है शासन ने गाइड लाइन तय की हुई है लेकिन यह गाइड लाइन गुरैया सब्जी मंडी में नजर नहीं आती है। शुरुआत में वहां पहुंचने वाले किसानों, हमालों व व्यापारियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाती थी लेकिन वह कुछ समय बाद बंद हो गई। वर्तमान में वहां पहुंचने वालों के पास मास्क तक नजर नहीं आता है। मंडी में फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन कराने मंडी का कोई कर्मचारी तक नजर नहीं आते हैं।

- इनका कहना है।

अधूरे निर्माण पूर्ण करने के लिए ठेकेदार को कहा गया है अगर वह कार्य सहीं समय पर पूर्ण नहीं करेगा तो ठेकेदार पर कार्रवाई की जाएगी। गुरैया मंडी में मौजूद कर्मचारी लोगों को फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कहते हैं नगर निगम द्वारा जुर्माने की कार्रवाई की जाती है।

एस.के. अहिरवार, प्रभारी सचिव, कुसमेली मंडी, छिंदवाड़ा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020