फोटो-------------31 बीटीएल 5

बैतूल। रेलवे स्टेशन के पास मिले लोगों को रैन बसेरा पहुंचाया गया।

फोटो-------------31 बीटीएल 6

बैतूल। पुलिस वाहन में बिठाकर रैन बसेरा ले जाते पुलिसकर्मी।

बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए 21 दिन का लॉकडाउन उन लोगों के लिए मुश्किल बन गया है जिनके पास न घर है न रोजी रोटी का आसरा। ट्रेने बंद हो जाने के कारण रेलवे स्टेशन बैतूल के पास आधा दर्जन मजदूरों के अलावा बेसहारा, दिव्यांग और भीख मांगकर गुजारा करने वाले दर्जन भर लोग भूखे बैठे मदद का इंतजार कर रहे थे। एएसपी श्रद्धा जोशी ने इनमें से कुछ लोगों को जब रेलवे स्टेशन पर भटकते देखा तो उनसे बातचीत की। बेसहारा लोगों की समस्या को देखते हुए तत्काल गंज थाना प्रभारी प्रशिक्षु डीएसपी संतोष पटेल को उन्होंने निर्देशित किया। जिसके बाद सभी लोगों को पुलिस वाहन से रैनबसेरा में सुरक्षित पहुंचाया गया। एएसपी द्वारा मिले निर्देश के बाद डीएसपी संतोष पटेल ने मोबाइल टीम के साथ रेलवे स्टेशन पहुंचे। श्री पटेल ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर फंसे मुसाफिरों और भीख मांगकर जीवन यापन करने वाले लोग परेशान थे। सभी को स्वास्थ्य परीक्षण कराने के बाद रैन बसेरा पहुंचाया गया, इनमें तीन लोग दिव्यांग भी हैं। श्री पटेल ने बताया कि सभी के लिए दीनदयाल रसोई से भोजन की व्यवस्था की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना