बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। नगर के अधिवक्ता आदित्य पचौली ने गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड बनाने के लिए 17 सेकंड के भीतर सिर में और 49 मिनट के भीतर 750 लीटर की पानी की टंकी पर सबसे बड़ा साफा बांधा। पिछले 14 साल से साफा बांधने का कार्य कर रहे अधिवक्ता आदित्य ने बताया कि गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड के लिए 2020 में आवेदन किया था। वर्ष 2021 में आवेदन स्वीकार किया गया और इसका प्रदर्शन करने के लिए 26 अगस्त 2022 की तिथि दी गई थी। बैतूल के ओपन आडिटोरियम में शुक्रवार को उन्होंने साफा बांधने का प्रदर्शन किया।

इसकी वीडियोग्राफी और फुटेज अब गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड के लिए भेजे जाएंगे। यदि उनका यह दावा सटीक हो जाता है तो निश्चित रूप से उनका यह प्रयास गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज हो जाएगा। अधिवक्ता आदित्य का दावा है कि उन्होंने पानी की टंकी पर मात्र 49 मिनट में साफा बांधा है। इतना बड़ा साफा आज तक किसी ने इतने समय में नहीं बांधा है। पिछले 14 साल से साफा बांधने का कार्य कर रहे आदित्य ने बताया कि उन्होंने गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड के लिए वर्ष 2020 में आवेदन किया था। उनका आवेदन वर्ष 2021 में स्वीकृत कर लिया गया था। इसके बाद से वे लगातार उसका प्रदर्शन करने के लिए तिथि की मंजूरी मिलने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही 26 अगस्त 2022 का दिन तय किया गया उन्होंने इसकी तैयारी प्रारंभ कर दी। शुक्रवार सुबह कोठीबाजार के ओपन आडिटोरियम में सबसे पहले उनके द्वारा सिर पर साफा बांधने का प्रदर्शन किया। इसके लिए तय मापदंड 20 सेकंड का था लेकिन उन्होंने 4.7 मीटर लंबा 0.84 मीटर चौड़ाई के कपड़े का साफा मात्र 17 सेकंड 4 माइक्रो सेकंड में बांध दिया है। इसके साथ ही बड़ा साफा बांधने के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड के लिए तय किए गए मापदंड के अनुसार प्रदर्शन किया।

750 लीटर पानी संग्रह करने की क्षमता वाली टंकी पर 345.25 स्केवयर मीटर(250 वर्ग मीटर का क्राइटेरिया)132.28 मीटर लंबाई, 2.61 मीटर चौड़ाई के कपड़े का उपयोग कर साफा बांधा गया। आदित्य ने इस बड़े साफा को 750 लीटर की पानी की टंकी पर मात्र 49 मिनट चार सेकंड में बांधकर दिखा दिया। टंकी पर जो साफा बांधा उसमें साफे की ऊंचाई 0.9 मीटर, साफे का व्यास 1.1 मीटर, साफे के फर की ऊंचाई 0.35 मीटर एवं साफे का परिमाप 3.6 मीटर है। साफा के मेजरमेंट के लिए सर्वेयर के रूप में इंजीनियर प्रखर पगारिया (एमटेक), नीतीश हरोडे, विनोद जयसिंगपुरे (अधिवक्ता) की सेवाएं ली गईं।रिकार्ड बनाने के लिए कितना समय लगा इसके लिए टाइम कीपर के रूप में बलदेव अरोरा, अजय भार्गव, रानू वर्मा मौजूद थे। साफा स्पेशलिस्ट विनोद गावंडे, सागर श्रीवास की उपस्थिति में इस बड़े साफा को बांधा गया।

पूरे प्रदर्शन की वीडियो और फोटोग्राफी फोटो ग्राफर रानू हजारे उनके सहयोगी बादल मोटवानी के साथ पवन पवार के द्वारा की गई। आदित्य का उत्साहवर्धन करने के लिए सुबह से ही आडिटोरियम में समाजसेवी प्रमेश शाह, डा विनय चौहान, विक्रम मोटवानी, आकांक्षा पचौली, समक्ष गोठी, मुकेश खंडेलवाल, बिट्टू, पलक पगारिया, संतोष यादव सहित अन्य मौजूद रहे। गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड के लिए तय किए गए मापदंड पर यदि आदित्य खरे उतर जाते हैं तो बैतूल जिले का नाम विश्व में इस अनूठी विधा के लिए जाना जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close