Madhya Pradesh News: बैतूल(नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले की मुलताई पुलिस ने रायआमला के सहकारी बैंक में 18 जुलाई की रात हुई चोरी के मामले में महाराष्ट्र केगिरोह के एक आरोपित को गिरफ्तार किया है। उसने राजफाश किया है कि गिरोह का मास्टर माइंड विश्वास सिगर हर बड़ी वारदात के बाद प्लास्टिक सर्जरी कराकर अपना चेहरा बदल लेता है। पुलिस विश्वास सहित चार आरोपितों को तलाश रही है।

एसडीओपी नम्रता सौंधिया ने बताया कि चोरों ने गैस कटर से सहकारी बैंक के शटर और चैनल गेट को काटकर बैंक की सामग्री, पैनल हब, सीसीटीवी कैमरे, सील समेत करीब 20 हजार का सामान चोरी किया था। चोरों ने रात 12 से 3.30 बजे के बीच गैस कटर से चैनल गेट में लगे कुल छह ताले काटे।

इसके बाद तिजोरी वाले कमरे का ताला काटने की कोश‍िश कर रहे थे, तभी बैंक का सायरन बज गया, जिससे सभी बदमाश भाग गए और तिजोरी में रखे 17 लाख रुपये बच गए। वारदात को अंजाम देने के लिए ये बदमाश मालवाहक वाहन लेकर आए थे।

इसके बाद सीसीटीवी फुटेज तथा टोल फास्टैग के आधार पर आरोपित शशिकांत पुत्र रामदास सिडामे निवासी गोपाल नगर अमरावती को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की गई। उसने सुरेश उमड, अमित निंबोरकर, विश्वास सिगर एवं सागर टांके निवासी अमरावती महाराष्ट्र के साथ वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया है।

टीआइ सुनील लाटा के मुताबिक चोरी की वारदात को अंजाम देने के बाद विश्वास सिगर मोबाइल और सिम फेंककर चेहरे की सर्जरी भी करा लेता था। बैंक मैनेजर शेषराव पांसे की शिकायत पर आरोपितों के खिलाफ धारा 475 , 380 भादवि के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close