बैतूल। भोपाल के एलएन मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की पढ़ाई करने वाले छात्र यश पाठे को बेरहम प्रताड़ना देकर आत्महत्या के लिए उकसाने वाली गैंग की लीडर और सहयोगी को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश किया।

पुलिस ने न्यायालय से आरोपितों से पूछताछ के लिए 14 दिनों की रिमांड मांगी जिसे अस्वीकार करते हुए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने सात दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेजने का आदेश दिया है। कोतवाली टीआई राजेश साहू ने बताया कि छात्र यश पाठे द्वारा की गई आत्महत्या के मामले में साक्ष्य और परिजनों के बयान पर पांच लोगों के खिलाफ धारा 306 का प्रकरण दर्ज किया है।

गैंग लीडर श्रुति शर्मा और सालीन उपाध्याय को पूना से गिरफ्तार कर बुधवार मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रेखा आर चंद्रवंशी के कोर्ट में प्रस्तुत किया। यहां से न्यायालय ने आरोपितों को 10 जुलाई तक रिमांड पर भेज दिया है। पुलिस अब दोनों आरोपितों से मामले को लेकर हर बिंदु पर सूक्ष्मता के साथ पूछताछ करेगी। पुलिस द्वारा आरोपितों से ड्रग्स के बारे में भी कुछ सुराग हासिल करने का प्रयास किया जाएगा।

परिजनों का आरोप- कॉलेज प्रबंधन को छोड़ दिया

छात्र यश पाठे के बड़े पिता ओमकार पाठे ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने केवल आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का ही मामला दर्ज किया है। रैगिंग को लेकर यश की पिटाई की गई और शिकायत वापस न लेने के लिए धमकाया भी था। इसके बाद भी पुलिस ने न तो कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ कोई एक्शन लिया है और न ही उन्हें जांच के दायरे में शामिल किया।

आरोपितों से पुलिस की सहानुभूति का आरोप

मृतक छात्र यश के परिजन बुधवार को न्यायालय पहुंचे थे। जब उन्होंने मुख्य आरोपित श्रुति शर्मा को बिना हथकड़ी के देखा तो उनका गुस्सा फूट पड़ा। परिजन ओमकार पाठे का कहना है कि इतने गंभीर मामले के मुख्य आरोपी को पुलिस ने हथकड़ी तक नहीं लगाई। उनके साथ मेहमानों के जैसा व्यवहार किया जा रहा है।

गैंग लीडर बोली- कोर्ट के सामने बताऊंगी सच

छात्र यश पाठे को प्रताड़ित कर आत्महत्या के लिए उकसाने वाली गैंग की लीडर श्रुति शर्मा ने पूरे मामले से स्वयं को बेकसूर बताया। उसका कहना है कि पूरे घटनाक्रम के बारे में कुछ भी पता नहीं है। जो भी सच है वह न्यायालय के सामने बताऊंगी। ड्रग्स के संबंध में पूछे जाने पर आरोपित का कहना है कि सब झूठ है, मेरा डीएनए टेस्ट करा लें।

हर पहलू पर करेंगे पूछताछ

न्यायालय ने आरोपितों को 7 दिन की रिमांड पर भेजा है। उनसे हर पहलू पर पूछताछ की जाएगी ताकि घटना के संबंध में स्थिति स्पष्ट हो सके। इसके अलावा अन्य घटनाओं को लेकर भी पूछताछ होगी। एक आरोपित अभी गिरफ्त में नही आया है उसके बारे में भी रिमांड पर लिए गए आरोपितों से पूछताछ करेंगे।

राजेश साहू, टीआई कोतवाली बैतूल

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना