सारणी। स्व. विजय कुमार खंडेलवाल के स्मृति राज्य स्तरीय टेनिस बाल क्रिकेट प्रतियोगिता के पंद्रहवे दिन 2 मैच खेले गए। रविवार का पहला मैच केजीएन बगडोना एवम यूनाइटेड इलेवन पाथाखेड़ा के बीच खेला गया। केजीएन बगडोना ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए केजीएन बगडोना ने निर्धारित 12 ओवर में 75 रन बनाए। जवाबी पारी खेलने उतरी यूनाइटेड इलेवन पाथाखेड़ा 12 ओवर मे मात्र 62 रन ही बना पाई। केजीएन बगडोना ने यह मैच 13 रनों से जीत लिया। इस मैच के मैन ऑफ द मैच शाहरुख सिंघानिया रहे, जिन्होंने 20 गेंद पर 25 रनो की बहुमूल्य पारी खेली। मैन ऑफ द मैच बने।

दूसरा मैच रेड रोज शोभापुर एवम जफर फेन्स क्लब पाथाखेड़ा के बीच खेला गया। पहले बल्लेबाजी करते हुए रेड रोज शोभापुर ने 12 ओवर में 144 रन बनाये। जिसमे लोकल ब्वाय आलोक गोस्वामी ने तूफानी 94 रनो की पारी खेली जिसमे 14 गगनचुंबी छक्के लगाए।145 रनों के स्कोर का पीछा करते हुए जफर फेन्स क्लब पाथाखेड़ा ने 12 ओवर में मात्र 41 रन बनाकर ऑल आउट हो गई।रेड रोज शोभापुर ने यह मैच 103 रनों से जीत लिया। इस मैच के मैन ऑफ द मैच आलोक रहे जिन्होंने 28 गेंदों पर 94 रनो की धुंवाधार पारी खेली और मेन आफ द मैच बने।अतिथियों ने पुरुस्कार प्रदान किया।

--

भाजपा महिला मोर्चा का हल्दी कुमकुम का कार्यक्रम आज

सारणी। सोमवार को दोपहर एक बजे भारतीय जनता पार्टी मंडल सारनी कार्यालय में भाजपा महिला मोर्चा के द्वारा हल्दी कुमकुम का कार्यक्रम रखा गया है। भारतीय जनता पार्टी मंडल सारणी के अध्यक्ष सुधा चंद्रा ने बताया कि पति के दीर्घायु और सौभाग्यवती के प्रतीक के अंतर्गत हल्दी कुमकुम कार्यक्रम मनाया जाता है। इस कार्यक्रम में महिला मोर्चा के पदाधिकारी एवं अन्य महिलाएं भाजपा कार्यालय सारणी में दोपहर एक बजे उपस्थित रहेंगी। उन्होंने महिला मोर्चा के पदाधिकारियों से कार्यक्रम में अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होने की अपील की है।

--

ऑटो चालक के भरोसे हाई मास्क लाइट

फोटो----18 बीटीएल 33

सारणी। हाईमैक्स लाइट जिसमें 8 लाइट बंद हैं।

सारणी।नगर के जय स्तंभ चौक पर नपा सारणी के द्वारा हाई मास्क लाइट लगाया गया। डेढ़ माह से नपा के कर्मचारी के द्वारा लाइट के बंद और चालू ना किए जाने के कारण जय स्तंभ चौक पर ऑटो का संचालन करने वाले चालक परिचालकों के द्वारा हाई मास्क लाइट को बंद और चालू किया जाता है। ऑटो चालकों ने बताया कि जिस स्थान पर बिजली का बोर्ड लगा गया है वह खुला और अव्यवस्थित है। हाई माक्स के चालू और बंद करने के समय कोई ऑटो चालक इसकी चपेट में आ गया तो निश्चित तौर से उसे जान से हाथ धोना पड़ेगा। ऐसा नहीं कि इसकी जानकारी नगर पालिका को नहीं है, लेकिन नगरपालिका के कर्मचारी जयस्तंभ चौक पर लगे हाई मास्क को बंद करना चालू करना अपनी शान के विरुद्ध समझते हैं, जिसकी वजह से ऑटो चालक ही के भरोसे नगर के जयस्तंभ चौक दूधिया कलर से नहाती है।

12 में से 8 लाइट बंद 4 के भरोसे रोशनीः नगर पालिका परिषद सारणी के द्वारा लाखों रुपए की लागत से हाई मास्क सारनी के जय स्तंभ चौक पर लगाया गया और इसकी देखरेख भी नपा के बिजली विभाग की है। लेकिन बिजली विभाग के कर्मचारियों की लापरवाही की वजह से 12 में से आठ हाई मास्क बल्ब बंद है। केवल 4 बल्ब के भरोसे ही जयस्तंभ चौक पर रोशनी को रही है। ऐसा नहीं कि सामाजिक कार्यकर्ताओं के द्वारा मुख्य नगरपालिका अधिकारी और नपा अध्यक्ष को लिखित एवं मौखिक शिकायत ना की हो लेकिन नपा के बिजली विभाग के द्वारा जय स्तंभ चौक पर लगे हाई मास्क की सुघ ना लेना उनकी कार्यप्रणाली पर कई तरह के सवाल को खड़ा कर रहा है।

--

ओबीसी वर्ग आज सौपेगा का ज्ञापन

सारणी। नगर परिषद घोड़ाडोंगरी चुनाव आरक्षण प्रक्रिया में ओबीसी वर्ग को आरक्षण नहीं देने पर समस्त ओबीसी वर्ग प्रक्रिया से खफा है। घोड़ाडोंगरी नगर परिषद चुनाव में अन्य वर्गों को आरक्षण दिया गया है, जबकि ओबीसी वर्ग के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान है। लेकिन नगर परिषद की आरक्षण प्रक्रिया में ओबीसी वर्ग को आरक्षण नहीं दिया जाना ओबीसी वर्ग की अवहेलना मानी जा रही है। ओबीसी वर्ग को चुनाव में 27 प्रतिशत आरक्षण दिया जाना था। जबकि आरक्षण को शून्य कर एक भी सीट ओबीसी वर्ग के लिए आरक्षति नहीं की गई।

शुक्रवार को नगर परिषद में आरक्षण की प्रक्रिया हुई थी इसमें सबसे पहले जनसंख्या के आधार पर एससी,वर्ग के लिए 2 वार्ड व एसटी के लिए 6 वार्ड आरक्षति किए गए थे। शेष 7 वार्डों को अनारक्षति घोषित किए गया जिसके बाद महिला आरक्षण प्रक्रिया लॉटरी सिस्टम से कराई गई।वाडो के आरक्षण प्रक्रिया में संबंधित अधिकारियों द्वारा भारी चूक होने से समाज का एक बहुत बड़ा ओबीसी वर्ग अब प्रक्रिया पर ही आपत्ति दर्ज कराने में लगा हुआ है। क्रिया को देखते हुए सोमवार को कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपकर आरक्षण प्रणाली को दोबारा करवाने की मांग की जाएगी।

ओबीसी वर्ग के लोगों का कहना है कि आरक्षण में ओबीसी वर्ग को नजरअंदाज किया गया है या तो अधिकारी व प्रशासन अपनी भूल को सुधार करें और आरक्षण यथावत रखें। ओबीसी समाज को नजरअंदाज किए जाने पर आंदोलन व धरना प्रदर्शन किया जाएगा। नगर के राम कुमार मालवीय ने बताया कि अगर ओबीसी वर्ग को नगर परिषद में आरक्षण नहीं दिया गया तो वह न्यायालय की शरण में जाकर प्रक्रिया के खिलाफ स्टे लार कर पुनः प्रक्रिया करने की मांग करेंगे। समाजसेवी सोनाली मालवीय ने बताया कि जब आरक्षण प्रक्रिया के दौरान अधिकारियों से पूछा गया तो अधिकारियों द्वारा जनरल वर्ग से लड़ सकते हैं। ओबीसी वर्ग के लिए ऐसी सांत्वना दी गई जो कि संविधान के विरुद्ध है। ओबीसी वर्ग में आने वाले साहू समाज के लोगों का कहना है कि ऐसे तो हमारा शोषण होगा जिसको हम बर्दाश्त नहीं कर सकते। वहीं समाजसेवी जितेंद्र मालवीय ने बताया कि जब संविधान में ही ओबीसी वर्ग के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण रखा गया है तो किस आधार पर आरक्षण को चुनाव में सुनने किया गया मालवीय ने बताया कि ऐसी प्रक्रिया से ओबीसी वर्ग अपने आप को शोषित महसूस कर रहा है ।

--

बाबा मठारदेव मेले में हजारों की संख्या में पहुंचे श्रद्धालु

ग्रामीण क्षेत्र के श्रद्धालुओं की याद आ रही भीड़

फोटो----18 बीटीएल 34 एवं 35

सारणी। मेले में उमड़ा जनसैलाब। एवं आकर्षण का केंद्र रहा रविवार को झूला।

सारणी।श्री श्री 1008 बाबा मठारदेव मेले के आठवें दिन शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के श्रद्धालुओं की अपार भीड़ रही एक आकलन लगाया जा रहा है कि लगभग एक से अधिक श्रद्धालुओं ने तलहटी एवं शिखर मंदिर पर बाबा भोले के दर्शन कर आशीर्वाद प्राप्त किया है। एक सप्ताह के बाद इस तरह की भीड़ बाबा मठारदेव मेले में होने की वजह से मैं व्यापारी, मंदिर प्रबंधन के चेहरे पर रौनक देखने लायक थी। एक अनुमान लगाया जा रहा है कि 12 जनवरी से लेकर 19 जनवरी तक लगभग तीन लाख 40 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने बाबा मठारदेव के दर्शन कर पुण्य अर्जित किया है।

ग्रामीण श्रद्धालुओं ने जमकर की खरीदीः श्री श्री 1008 बाबा मठारदेव मेले में ग्रामीण क्षेत्र से आने वाले श्रद्धालुओं के द्वारा मेले में जमकर खरीदी की गई। सबसे ज्यादा रौनक महिला सामग्री बेची जाने वाली दुकानों पर देखने को मिला। उसके बाद मुझे पर जैसे बैठने की मूर्ति लगी हुई थी 1 वर्ष के बाद इतना बड़ा झूला शहर में आता है इसलिए ग्रामीण क्षेत्र के श्रद्धालुओं के द्वारा इस मामले पर बैठकर जमकर लुफ्त उठाया गया। मेले में किसी भी तरह की चूक ना हो इसे देखते हुए एसडीओपी अभय चौधरी एवं थाना प्रभारी महेंद्र सिंह चौहान के द्वारा सुरक्षा व्यवस्था पर पैनी नजर रखी गई। हालांकि संपूर्ण 8 दिनों में किसी भी तरह की अप्रिय घटना एवं जेब काटने जैसी कोई भी वारदात सामने नहीं आई है और ना ही जेब कटने जैसी कोई शिकायत किसी के द्वारा सारणी थाने में दर्ज करवाई गई है।

--

रविंद्र नाथ टैगोर वार्ड में स्ट्रीट लाइट लगाए जाने की उठी मांग

नगर पालिका परिषद सारणी द्वारा यह वार्ड उपेक्षित है

सारणी। पाथाखेड़ा के रविंद्र नाथ वार्ड में लंबे समय से स्टेट लाइट एवं विद्युत व्यवस्था किए जाने की मांग की जा रही है, लेकिन इस ओर नगर पालिका परिषद सारणी के कोई भी जिम्मेदार अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है। आश्चर्य की बात तो यह है कि इस वार्ड में निवास करने वाले ज्यादातर लोग बंगाली समुदाय के हैं। इन लोगों के द्वारा कई बार डब्ल्यूसीएल एवं नगरपालिका को लिखित एवं मौखिक शिकायत भी देकर स्टेट लाइट एवं बिजली की व्यवस्था किए जाने की मांग की गई। लेकिन दोनों ही विभागों के द्वारा इस वार्ड की ओर अनदेखा किया गया है। वार्ड वासियों ने बताया कि विशवकर्मा मंदिर के पीछे स्ट्रीट लाइट ना होने के कारण अंधेरा छा जाता है।जिसकी वजह से अवांछिततत्वों के लोग इस मैदान में एकत्रित हो जाते हैं। जिससे अप्रिय घटना होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता।नगर वासियों ने नपाध्यक्ष एवं डब्ल्यूसीएल प्रबंधन से स्टेट लाइट की व्यवस्था किए जाने की मांग की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket