मुलताई (नवदुनिया न्यूज)। नगर में इस वर्ष दो दिनों का जन्माष्टमी पर्व मनाया जा रहा है जिसके तहत पहले ताप्ती तट पर स्थित महाराष्ट्रीयन कृष्ण मंदिर में गुरूवार रात 12 बजे धूमधाम से जन्माष्टमी मनाई गई। शुक्रवार रात नगर के अन्य मंदिरों में जन्माष्टमी पर्व श्रद्धालुओं ने मनाया। नगर में गुरूवार रात 12 बजते ही महाराष्ट्रीयन कृष्ण मंदिर में घंटे घड़ियालों की मधुर आवाज गूंजने लगी तथा नंद घर आनंद भयो जय कन्हैया लाल की जयकारों से पूरा ताप्ती तट गूंज उठा। बड़ी सं या में श्रद्धालुओं ने कृष्ण मंदिर पहुंचकर पूरे भक्ति भाव के साथ भगवान कृष्ण का जन्मदिन मनाया। जन्मोत्सव के दौरान श्रद्धालुओं के माथे पर गुलाल लगाया गया साथ ही प्रसादी का वितरण किया गया। इस अवसर पर मंदिर में भगवान कृष्ण के भजनों ने समां बांध दिया जिससे पूरा ताप्ती तट भगवान कृष्ण के रंग में रंगा हुआ नजर आया। श्रद्धालु राकेश धामने ने बताया कि इस वर्ष पहले महाराष्ट्रीयन कृष्ण मंदिर में जन्माष्टमी मनाई जा रही है जिसके बाद शुक्रवार लक्ष्‌मीनारायण मंदिर, सत्य नारायण मंदिर तथा जगदीश मंदिर में जन्माष्टमी पर्व मनाया गया। महाराष्ट्रीयन कृष्ण मंदिर में काले पत्थर से निर्मित भगवान कृष्ण एवं रूक्मणी की प्रतिमाएं हैं जिसका जन्माष्टमी पर्व पर विशेष श्रंगार किया जाता है।

मंदिर का कराया काया कल्प-

ताप्ती तट पर वर्षो से महाराष्ट्रीयन कृष्ण मंदिर स्थित है जो समय के साथ जीर्ण क्षीर्ण हो रहा था। मंदिर की स्थिति देखते हुए नगर के गीतकर परिवार द्वारा मंदिर का कायाकल्प कराया गया है। इस संबन्ध में लोकेश गीतकर ने बताया कि उनके पिता राजेश गीतकर तथा माता अंजना गीतकर की प्रेरणा से उन्होने मंदिर का 21 दिन में कायाकल्प कराया है जिससे मंदिर सुंदर एवं आकर्षक नजर आ रहा है। उन्होने बताया कि वे मुलताई के निवासी है तथा इंदौर में कार्यरत हैं इसलिए नगर के मंदिरों से आस्था है जिसके तहत मंदिर का जीर्णोद्धार कराया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close