Natural Farming in MP बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। जागरूकता की कमी के चलते कैंसर के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। कैंसर तंबाकू, पाउच के अलावा प्रेस्टीसाइड और रासायनिक खाद के ज्यादा उपयोग से हो रहा है। कैंसर की बीमारी से बचने के लिए हमें प्राकृतिक खेती की तरफ जाना चाहिए। उक्त आशय के विचार बतौर मुख्य अतिथि कृषि मंत्री कमल पटेल ने स्व. मधुलिका गर्ग अग्रवाल स्मृति निशुल्क कैंसर जांच, उपचार और जागरूकता शिविर में व्यक्त किए।

गर्ग परिवार के द्वारा पिछले सात सालों से कैंसर शिविर का आयोजन करने को पुण्य का कार्य बताते हुए उन्होंने इसमें सहयोग करने वाले लोगों को साधुवाद दिया। किसी को ये बीमारी न हो इसको लेकर हमने प्राकृतिक कृषि बोर्ड बनाया है जिसके माध्यम से हम किसानों को जागरूक कर रहे हैं कि वे प्राकृतिक जैविक खेती की तरफ जाएं। गो-पालन करें, गोबर के खाद का उपयोग करें।

कैंसर खतरनाक बीमारी है इससे सब बर्बाद हो जाता है। अगर हम प्राकृतिक खेती करेंगे तो निश्चित तौर से इस बीमारी पर रोक लगेगी। इसी दिशा में हमने एक अभियान चलाया है। मेरा गांव-मेरा तीर्थ, इसमें प्राकृतिक खेती के अलावा युवाओं को नशा मुक्ति के लिए अभियान चलाया जाता है। सांसद दुर्गादास उइके ने कहा कि कैंसर शिविर से मरीजों को लाभ मिलता है और जो लोग बाहर जाकर जांच नहीं करवा पाते हैं वो यहां जांच करवा लेते हैं, जिससे समय रहते बीमारी का पता चलता है और उसका इलाज हो जाता है।

विधायक निलय डागा ने कहा कि कैंसर शिविर में मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के कई अस्पतालों के कैंसर विशेषज्ञ चिकित्सक आए हैं। संतुलन समिति पिछले सात साल से आयोजन कर रही है जिसके लिए वे साधुवाद के पात्र हैं। विधायक योगेश पंडाग्रे ने कहा कि कैंसर ऐसी बीमारी है जिसका समय पर इलाज हो जाए तो ठीक है नहीं तो यह बड़ा रूप ले लेती है और बहुत कष्टदायक बीमारी होती है।

अगर किसी को कैंसर ट्रेस होता है तो वो आत्मविश्वास के साथ इलाज जल्दी कराए। ब्रम्हकुमारी आश्रम भोपाल से आई नीता दीदी ने कहा कि कैंसर हावी हो गया है। इस बीमारी से निजात पाने के लिए हमें अपनी जीवन शैली में बदलाव लाना चाहिए। खान-पान पर ध्यान देना चाहिए। इसको लेकर स्वयं चिंतित हो जाए। ब्रम्ह मुहूर्त में उठें और भगवान के साथ संबंध बनाए।

अगर आपका खान-पान पर ध्यान रहेगा तो इस बीमारी से आप बच सकेंगे। भोपाल से आए डा. जयप्रकाश अग्रवाल ने कहा कि कैंसर नशीले पदार्थों से होता है, तंबाकू और शराब के सेवन से कैंसर की बीमारी होती है। हमारा समाज नशे को छोड़ नहीं पा रहा है। नशा मुक्ति के साथ खान-पान का ध्यान देना जरूरी है।

पेस्टीसाइड, रासायनिक खाद और प्रदूषित पानी से जो फसल और सब्जी पैदा हो रही है इस पर भी रोक लगनी चाहिए तभी हम कैंसर से बच सकते हैं। संतुलन समिति के अध्यक्ष मोहित गर्ग ने कहा कि हमने कष्ट झेला है इसलिए और कोई न झेले। इसी सोच को लेकर हमने कैंसर शिविर आयोजित करने का विचार बनाया था। जिसमें बड़े भाई प्रशांत गर्ग, कैंसर फाइटर बबलू दुबे, दिनेश जोसफ सहित अन्य कई साथियों के साथ विचार विमर्श किया और शिविर का आयोजन किया। यह सांतवा कैंसर शिविर है जिसमें मरीजों ने जांच और उपचार कराया है। कैंसर शिविर में जिले की और जिले की बाहर की प्रतिभाओं का सम्मान किया गया।

जिला अस्पताल को मिलेगी मेमोग्राफी मशीन

ब्रेस्ट कैंसर का टेस्ट करने वाली मेमोग्राफी मशीन जिला अस्पताल में नहीं होने के कारण बहुत दिक्कतें होती है इसी को लेकर संतुलन समिति के अध्यक्ष मोहित गर्ग ने मंच से यह बात रखी कि अगर जिला अस्पताल में मेमोग्राफी मशीन उपलब्ध हो जाए तो महिलाओं को टेस्ट करवाने के लिए जिले से बाहर नहीं जाना पड़ेगा।

उनकी मांग को गम्भीरता से लेते हुए कृषि मंत्री कमल पटेल ने मंच से घोषणा की कि जल्द ही बैतूल जिला अस्पताल में मेमोग्राफी मशीन की सुविधा उपलब्ध होगी। कैंसर शिविर में जांच और उपचार कराने के लिए सुबह से ही पंजीयन का कार्य शुरू हो गया था। लगभग 300 लोगों ने पंजीयन कराया। इनकी मेमोग्राफी टेस्ट के अलावा अन्य जांच की गई।अंत में शिविर में आए अतिथियों, चिकित्सकों और सभी का नवनीत गर्ग और युवा अधिवक्ता सजल गर्ग ने आभार व्यक्त किया

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close