शाहपुर (नवदुनिया न्यूज)। नेशनल हाइवे 69 पर माचना नदी के उफान पर होने के बाद भी शाहपुर में निजी कंपनी की यात्री बस के चालक ने पुल पर पानी होने की परवाह नहीं की और बस को निकाला। यात्रियों की जान जोखिम में डालकर पुल पर से बस निकाले जाने की सूचना मिलते ही भौंरा पुलिस चौकी में बस को जब्त कर लिया गया है। माचना पुल पर बाढ़ का पानी होने के बावजूद निजी बस के ड्राइवर ने पुल पर बस निकाल ली और यात्रियों की जान जोखिम में डाल दी थी। शुक्र था कि कोई हादसा नहीं हुआ।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि पांढुर्ना से भोपाल के बीच चलने वाली शिवहरे ट्रेवल्स की बस क्रमांक एमपी 09 एफ ए 6446 के चालक ने बुधवार को करीब एक बजे सवारियो की जान को जोखिम में डालकर बस को पुल पर बाढ़ का पानी होने के बावजूद बस को पुल पार कराया ।पुल पर लगभग दो फिट पानी था जो बस के गेट को छू रहा था। इस संबंध में शाहपुर थाना प्रभारी शिवनारायण मुकाती ने बताया कि जिस बस के चालक ने पुल पर बाढ़ होने पर शाहपुर माचना पुल पार किया है उसे भौरा चौकी पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है। जो भी वैधानिक कार्रवाई होगी बस चालक एवं बस मालिक पर पुलिस द्वारा की जाएगी। उल्लेखनीय है कि मंगलवार से लगातार हो रही वर्षा के चलते बुधवार को भोपाल-नागपुर नेशनल हाईवे 69 से एक बार फिर छटवीं बार यातायात बंद हो गया है। नगर की माचना नदी में वैसे तो बाढ़ चल ही रही थी नदी दोनो पाट पहले से छूकर बह रही थी। बुधवार सुबह 11 बजे बाढ़ का पानी पुल के ऊपर आ गया। जो देर शाम तक पुल के ऊपर रहा। इसके चलते नेशनल हाईवे से यातायात रोक दिया गया।

बस का परमिट निरस्त करने का प्रस्ताव भेजा

इस मामले में परिवहन विभाग ने बस का परमिट और ड्राइवर का ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त करने का प्रस्ताव कमिश्रर कार्यालय होशंगाबाद को भेजा है। परिवहन अधिकारी रंजना भदौरिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार बस संजय शिवहरे निवासी बालागंज, होशंगाबाद के नाम से रजिस्टर्ड है। इसके चालक द्वारा शाहपुर में माचना नदी के पुल पर पानी होने के बावजूद यात्रियों की जान जोखिम मे डालकर लापरवाहीपूर्वक पुल को पार किया गया। विभाग द्वारा भेजे गए पत्र में कहा गया है कि यात्री बस के चालक द्वारा यात्रियों की सुरक्षा को नजर अंदाज करते हुए लापरवाहीपूर्वक वाहन का संचालन किया गया है। यह यात्रियों की सुरक्षा के हित में न होकर मोटरयान अधिनियम-1988 एवं नियम-1989 तथा मप्र मोटरयान नियम 1994 की अपेक्षाओं के तहत परमिट शर्तों का उलघंन है। बस का स्थाई परमिट भोपाल से पांढुर्णा तक है जिसकी वैधता 30 सितंबर 2024 तक है। चालक द्वारा लापरवाहीपूर्वक वाहन संचालन कर परमिट शर्तों का उल्लंघन करने की स्थिति में वाहन को स्वीकृत परमिट/फिटनेस एवं वाहन चालक का ड्रायविंग लायसेंस निलंबित/निरस्त करने के लिए कमिश्नर होशंगाबाद को प्रेषित किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close