बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। किसानों द्वारा वर्तमान में बोई गई फसलों में होने वाले कीट एवं रोगों के लक्षण की जानकारी एवं उपचार की सलाह देने के लिए ग्राम पंचायत के क्लस्टर मुख्यालय पर कार्यक्रम निर्धारित किया गया है। प्लांट क्लीनिक दल ने 10 अगस्त को प्रथम पाली में प्रातः 10.30 बजे से विकासखंड मुलताई की क्लस्टर ग्राम पंचायत जौलखेड़ा में प्लांट क्लीनिक आयोजित की जाएगी। जिसमें ग्राम पंचायत भिलाई, निरगुड़, हेटीखापा, जौलखेड़ा, सर्रा, खतेड़ाकला, बोथिया, एनस, मोही एवं डिवटिया के किसान भाग लेंगे। द्वितीय पाली में दोपहर 2.30 बजे से विकासखंड मुलताई की क्लस्टर ग्राम पंचायत डहुआ में प्लांट क्लीनिक आयोजित की जाएगी, जिसमें ग्राम पंचायत डहुआ, कपास्या, बांडियाखापा, बरखेड़, पिपरिया, खैरवानी, सावरी, सेमरिया पांढरी, जाम एवं बघोली बुजुर्ग के किसान भाग लेंगे। उक्त प्लांट क्लीनिकों में कृषि विज्ञान केन्द्र के कृषि विज्ञानी आरडी बारपेटे, अनुविभागीय कृषि अधिकारी सुरेन्द्र परहाते एवं वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी एके पारधी द्वारा किसानों की कीट-व्याधि के संबंध में समस्या का समाधान किया जाएगा। प्लांट क्लीनिक दल द्वारा 10 अगस्त को प्रथम पाली में प्रातः 10.30 बजे से विकासखंड घोड़ाडोंगरी की क्लस्टर ग्राम पंचायत पाढर में प्लांट क्लीनिक आयोजित की जाएगी, जिसमें ग्राम पंचायत पाढर, मेंढापानी, नीमपानी, पचामा, पीसाझोड़ी, डोलीढाना, जाखली, खारी, खदारा, झाडक़ुंड एवं चिखलीमाल के किसान भाग लेंगे। द्वितीय पाली में दोपहर 2.30 बजे से विकासखंड घोड़ाडोंगरी की क्लस्टर ग्राम पंचायत रानीपुर में प्लांट क्लीनिक आयोजित की जाएगी, जिसमें ग्राम पंचायत रानीपुर, अनकावाड़ी, चिखली आमढाना, कुही, रतनपुर, मेहकार, छुरी, सीताकामथ एवं जुवाड़ी के किसान भाग लेंगे। उक्त प्लांट क्लीनिकों में कृषि विज्ञान केन्द्र के कृषि विज्ञानी संजय जैन, अनुविभागीय अधिकारी कृषि दीपक सरियाम एवं वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी आरके उइके द्वारा किसानों की कीट-व्याधि के संबंध में समस्या का समाधान किया जाएगा। किसानों से अपील की गई है कि उक्त कार्यक्रम में अधिक से अधिक संख्या में भाग लेकर कृषि विज्ञानी से खरीफ फसलों में होने वाले रोग एवं कीट नियंत्रण के संबंध में सलाह लेकर लाभ लें। साथ ही फसल संबंधी कीट-व्याधि के नमूने लेकर अवश्य आएं, ताकि फसलों की समस्या का निराकरण किया जा सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close