मुलताई (नवदुनिया न्यूज)। बस स्टैंड पर मजदूरी का कार्य करने वाला युवक रविवार रात ट्रेन के सामने कूद गया जिससे उसकी मौत हो गई। मृतक के पिता ने बताया कि उसने बीती रात 2ः30 बजे अपने छोटे भाई को फोन कर कहा कि उससे बात कर लो, इसके बाद वह किसी से नहीं मिलेगा। उसने कहा कि वह मरने जा रहा है और फोन काट दिया। फोन काटने के बाद युवक रेलवे ट्रैक पर जाकर ट्रेन के सामने कूद गया। जिससे उसकी मौत हो गई। सुबह रेलवे कर्मचारी ने पुलिस को मामले की सूचना दी। जिसके बाद परिजनों को मौत की जानकारी जानकारी मिली।

बताया जा रहा है कि मुलताई निवासी गोकुल पिता सुभाष पवार उम्र 20 वर्ष मजदूरी का काम करता था। पिछले कई दिनों से वह परेशान था। मृतक के पिता सुभाष ने बताया कि रात 2ः30 बजे गोकुल ने अपने छोटे भाई जगदीश को फोन किया था और उसने कहा कि उसे मरना है। वह आखरी बार बात कर रहा है। इसके बाद उसने फोन काट दिया। उसने स्थान नहीं बताया था कि वह कहां पर है। ऐसे में रात में ढूंढने पर भी वह नहीं मिला। सुबह-सुबह उन्हें सूचना मिली कि रेलवे ट्रैक पर एक युवक का शव पड़ा हुआ है,जाकर देखा तो वह गोकुल था। सुभाष ने बताया कि गोकुल पिछले कई दिनों से परेशान था और वह बार-बार आत्महत्या की बात कह रहा था। लेकिन उसे हर बार समझाइश दी जाती थी कि वह ऐसा ना करें और अगर कोई समस्या है तो वह परिवार वालों के साथ उसे साझा करें। गोकुल ने ऐसी कोई भी बात अपने परिवार वालों को नहीं बताई और बीती रात उसने यह कदम उठा लिया।

सात दिन से लापता युवक का कुएं में मिला शव

मुलताई (नवदुनिया न्यूज)। ग्राम पारेगाव निवासी युवक पिछले सात दिनों से घर से लापता था, जिसका शव ग्राम के ही एक कुएं में मिला है। परिजनों ने बताया कि मृतक घर से माचिस लेने के लिए निकला था जिसके बाद वह वापस नहीं आया। जिसकी गुमशुदगी थाने दर्ज कराई गई थी। बताया जा रहा है कि चिन्ध्या पिता झूमर कुमरे उम्र 45 वर्ष 18 मई की शाम घर से बीड़ी- माचिस लेने के लिए निकला था। 18 मई की रात से वह घर नहीं आया था। मृतक के भाई चैतु कुमरे ने बताया कि गांव सहित रिश्तेदारी में उसकी खोजबीन की गई। लेकिन वह नहीं मिला। 20 मई को पुलिस थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज करवाई। मंगलवार चिन्ध्या का शव गांव के कुएं में पड़ा मिला। जिस पर पुलिस को सूचना दी गई। शव पूरी तरह से सड़ चुका था। पुलिस ने शव को कुएं से निकलवा कर पोस्टमार्टम के लिए मुलताई अस्पताल भेजा है। मर्ग कायम कर मामले की जांच की जा रही है। बताया जा रहा कि मृतक के दो बच्चे हैं। मृतक मजदूरी का काम करता था एवं उसकी मानसिक स्थिति भी ठीक नहीं थी।

नाबालिग के अपहरण मामले में दो आरोपित गिरफ्तार

मुलताई। थाना क्षेत्र की एक नाबालिग छात्रा को क्षेत्र के दो युवक बहला-फुसलाकर पहले बाइक से बैतूल ले गए और फिर बैतूल में देर रात आई एक ट्रेन में उसे अकेले भोपाल के लिए रवाना कर दिया। भोपाल से छात्रा को इंदौर ले जाने की योजना बनाई गई थी। लेकिन छात्रा का अपहरण करने वाले युवक सही समय पर भोपाल नहीं पहुंच पाए और उनकी योजना पर पानी फिर गया। इधर भोपाल स्टेशन पर उतरने के बाद यह छात्रा दो दिन स्टेशन के पास एक मंदिर में सोई और इधर-उधर घूमती रही। बाद में जब उसने अपने परिजनों को सूचना दी तो परिजन उसे भोपाल से लेकर वापस आए। पुलिस द्वारा आरोपित मनीष साहू एवं जितेंद्र टेकाम के खिलाफ पुलिस ने धारा 363 भादवि के तहत अपराध दर्ज किया गया है। दोनों छात्रा को उसके मामा के गांव से 16 मई की रात को अपहरण कर बाइक से बैतूल ले गये थे। पीड़िता ने बताया कि उसके पास एक हजार रुपये थे। जिससे उसने दो दिन खाना खाया, जिसके बाद उसने अपने परिजनो को सूचना दी। बताया जा रहा है कि आरोपी पीडिता को भोपाल से भगाकर इंदौर ले जाना चाह रहे थे एवं इंदौर में उसे रखना चाह रहे थे। पीडिता कक्षा ग्यारहवीं की छात्रा है और महज 16 साल की है। पीडिता के परिजनों की शिकायत पर पुलिस द्वारा मामला कायम किया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close