बैतूल। सोमवार को दिल्ली से चेन्नई जा रही जीटी एक्सप्रेस के एसी-3 कोच में यात्रा कर रही 2 महिलाओं के पर्स चुराकर अज्ञात चोरों ने एक लाख से अधिक की चपत लगा दी। वारदात भोपाल से बैतूल के बीच होने की आशंका जताई जा रही है। चोरी की वारदात का शिकार हुई एक महिला अमृतसर की और एक आमला की है।

ट्रेन के टॉयलेट में पर्स मिलने पर यात्रियों ने टीटीई को सूचना दी। टीटीई ने पर्स में मिले मोबाइल से फोन लगाया तो वह आमला की महिला यात्री के भाई का निकला। तब महिला यात्रियों को पर्स चोरी होने का पता चला। आमला जीआरपी ने चोरी का मामला दर्ज किया है।

मिली जानकारी के मुताबिक जीटी एक्सप्रेस के एसी-3 कोच की 11 और 12 नंबर सीट पर अमृतसर निवासी अन्नाू पत्नी विजय मल्होत्रा (31) अपने पति के साथ यात्रा कर रही थी। इसी दौरान अज्ञात चोर ने उनके सिरहाने रखा हुआ पर्स चुरा लिया।

उन्होंने अपनी शिकायत में बताया कि पर्स में 40 हजार रुपए नकद और एक हजार कैनेडियन डॉलर रखे हुए थे, जिसका भारतीय मुद्रा में अनुमानित मूल्य लगभग 50 हजार रुपए है। इस तरह से महिला के बैग से चोरों ने लगभग 90 हजार रुपए पार कर दिए। इसी कोच की 7 नंबर सीट पर यात्रा कर रही आमला निवासी सरोज पत्नी अनिल पाठक का पर्स भी चोरी करने के बाद पर्स में रखे 12500 रुपए चोरी कर लिए और पर्स टॉयलेट में फेंक दिया।

चोरों ने दोनों महिलाओं के पर्स से सिर्फ नकद रुपए ही चोरी किए। पर्स में रखे मोबाइल और अन्य सामग्री जैसी की वैसी रखी हुई थी। वारदात के दौरान कोच के अधिकांश यात्री सोए हुए थे। कुछ यात्रियों ने जब टॉयलेट में पड़े हुए पर्स देखे तो उन्होंने तत्काल इसकी सूचना टीटीई को दी।

टीटीई ने पर्स में रखा हुआ मोबाइल खंगाला और आखिरी नंबर पर जब काल किया तो यह काल आमला निवासी सरोज पाठक के भाई ने उठाया। उसे टीटीई ने वारदात की पूरी जानकारी दी और इस तरह से कोच में चोरी की वारदात का पता अन्य यात्रियों सहित पीड़ित महिलाओं को भी चला।

चलती ट्रेन में एफआईआर

जीआरपी से मिली जानकारी के मुताबिक अमृतसर की रहने वाली महिला अनु मल्होत्रा की शिकायत चलती ट्रेन में ही जीआरपी के प्रधान आरक्षक वेदप्रकाश बागरी द्वारा ली गई। उन्होंने बताया कि चूंकि वारदात भोपाल और बैतूल के बीच हुई है, इसके लिए एफआईआर दर्ज कर केस डायरी भोपाल भेज दी गई है।