मुलताई (नवदुनिया न्यूज)। ग्रामीण अंचलों में लगातार बढ़े हुए बिजली बिल आने से ग्रामीणों सहित किसान परेशान हैं। मंगलवार ग्राम हिवरा, चिखली खुर्द तथा खैरवानी के ग्रामीण समस्या को लेकर जब विद्युत कार्यालय पहुंचे तो कार्यालय से एमडी नदारद थे। जिससे आक्रोशित किसानों ने तहसील कार्यालय पहुंचकर हंगामा मचाया तथा बढ़े हुए बिजली बिलों के खिलाफ धरना दिया। इस दौरान किसानों ने तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा को ज्ञापन के माध्यम से समस्या से अवगत कराते हुए बिजली विभाग के अधिकारियों को मौके पर बुलाने की मांग भी की। ग्रामीण कृष्णा दंवडे सहित अन्य लोगों ने बताया कि बढ़े हुए बिजली बिलों से निर्धन एवं मध्यम वर्ग के किसानों का बजट बिगड़ गया है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण आर्थिक रूप से प्रभावित हो गए हैं जिससे सभी में रोष व्याप्त है। ग्रामीणों ने बताया कि बिजली विभाग द्वारा लगातार बढ़े हुए बिल दिए जा रहे हैं तथा पूछने पर संतोषप्रद जवाब नहीं दिया जा रहा है। इस दौरान ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचे बिजली विभाग के अधिकारियों को भी समस्या से अवगत कराया। किसानों ने कहा कि बढ़े हुए बिजली बिलों से किसान परेशान हैं लेकिन विभाग द्वारा इसका कोई निराकरण नहीं किया जा रहा है। किसानों ने बताया कि बिल नहीं भरने पर बिजली काटी जा रही है। किसानों के अनुसार यदि एैसी ही स्थिति रही तो वे आंदोलन करने पर मजबूर होगें जिसकी जिम्मेदारी बिजली विभाग की होगी। किसानों ने कहा कि वैसे ही मौसम की मार से किसान परेशान है इस पर बढ़े हुए बिजली के बिलों से किसान तनाव में आ गए हैं। किसानों ने बिजली बिल कम करने की मांग अधिकारियों से की गई है।

पल्ला झाड़ रहे बिजली विभाग के अधिकारीः

तहसील कार्यालय पहुंचे किसानों ने तहसीलदार को बताया कि बिजली के बढ़े हुए बिलों की विभाग शिकायत लेने को तैयार नहीं है। बिजली विभाग के कार्यालय जाने पर विभाग के एमडी कार्यालय में नहीं मिलते हैं तथा वहां मौजूद अन्य अधिकारियों द्वारा संतोषप्रद जवाब नहीं दिया जा रहा है। बिजली विभाग के एमडी किसानों से बात भी नहीं करते हैं ऐसे में किसान अपनी समस्या लेकर आखिर कहां जाए। किसानों ने कहा कि लगातार आपदाओं से किसान त्रस्त हो गया है इसलिए आत्मघाती कदम उठाने पर मजबूर हैं।

एमडी को तहसील कार्यालय बुलाने पर अड़े किसानः

तहसील कार्यालय पहुंचे किसानों ने धरना देकर तहसीलदार से बिजली विभाग के एमडी को बुलाने की मांग की। किसानों ने कहा कि एमडी कार्यालय में कभी नहीं मिले जिससे वे समस्या किससे बताएं। उन्होंने कहा कि तहसील कार्यालय में एमडी को बुलाएं ताकि किसान उन्हे समस्या बता सकें। किसानों ने कहा कि बढ़े हुए बिजली बिलों से उनकी परेशानी भी बढ़ गई है तथा बिल नहीं भरने पर बिजली काटी जा रही है लेकिन उनकी समस्या नहीं सुनी जा रही है। हालांकि इसके बावजूद एमडी तहसील कार्यालय नहीं पहुंचे तथा किसानों की समस्याएं अन्य अधिकारियों द्वारा सुनी गई।

अतिवृष्टि से परेशान हैं किसानः

वर्तमान में लगातार हो रही वर्षा से किसानों के खेत तालाब में परिवर्तित हो गए हैं तथा फसलों की जड़े गलने से पूरी फसल चौपट हो रही है। किसानों ने बताया कि अतिवृष्टि एवं प्राकृतिक आपदा से किसान आर्थिक रूप से टूट चुका है तथा भविष्य अंधकारमय नजर आ रहा है इस पर बढ़े हुए बिजली बिलों ने किसानों के माथे पर चिंता की लकीरों को और अधिक गहरा कर दिया है जिससे किसान आहत है। किसानों की समस्याएं नहीं सुनी जाने से किसानों में रोष व्याप्त है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close