भिंड। तहसीलदार साहब! माफिया के लोग हमारे खेतों से रेत खोद रहे हैं। रोकते हैं तो बंदूकें लेकर आ जाते हैं। गोली मारने की धमकी देकर खुलेआम पोकलेन से रेत खोदी जाती है। यह बात ऊमरी के खैरा गांव में ग्रामीणों ने तहसीलदार प्रमोद गर्ग से कही। तहसीलदार यहां सिंध नदी किनारे अवैध उत्खनन रोकने पहुंचे थे। बाद में यहां भिंड एसडीएम उदय सिकरवार, डीएसपी मुख्यालय मोतीलाल कुशवाहा भी पहुंचे। पुलिस और प्रशासन की टीम देखकर माफिया के लोगों ने एक पनडुब्बी नदी में डुबो दी। दूसरी पनडुब्बी को रौन थाना प्रभारी कुशल सिंह भदौरिया ने आग के हवाले कर दिया। अवैध खनन में लगी पाकलेन जब्त कर खेत मालिक किसानों के सुपुर्द की गई है।

पुल के पास रेत निकाल रहीं थी पनडुब्बीः

रौन थाना क्षेत्र में मेंहदा गांव के पास सिंध नदी के पुल के पास माफिया के लोग पनडुब्बी से रेत का अवैध उत्खनन कर रहे थे। पुल से महज 800 मीटर की दूरी पर यहां पनडुब्बी संचालित थी। नदी की दूसरी ओर पुलिस और प्रशासन की टीम को देखकर माफिया के लोगों ने पनडुब्बी को नदी में डुबो दिया। वहीं मौके पर मिली एक पनडुब्बी को पुलिस ने आग के हवाले कर दिया। पनडुब्बी में लगाए जाने वाले पाइप और ड्रम को पुलिस ने जब्त कर थाने भिजवा दिया है। इस पूरी कार्रवाई में ऊमरी थाना प्रभारी दीपेंद्र सिंह यादव भी मौजूद रहे।

ग्रामीण बोले- पोकलेन ले जाओ, नहीं तो गोली चलेगीः

खैरा गांव में पुलिस और प्रशासन की टीम ने पाकलेन जब्त कर ली। माफिया के लोग चाबी लेकर भाग गए थे। ऐसे में पाकलेन स्टार्ट नहीं हुई। मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने एसडीएम सिकरवार से कहा, साहब पाकलेन यहां से ले जाओ। एसडीएम ने कहा कोशिश तो कर रहे हैं। ग्रामीणों ने कहा साहब पोकलेन ले जाओ, नहीं तो यहां माफिया के लोग गोली चलाएंगे। पुलिस और प्रशासन ने तमाम कोशिश की, लेकिन पाकलेन स्टार्ट नहीं हुई। ऐसे में पाकलेन उन दो किसानों के सुपुर्द कर दी गई, जिनके खेत से माफिया रेत खोद रहे थे।

पुलिस से बोले-तुम हमारा कुछ नहीं कर पाओगेः

पुलिस और प्रशासन की टीम को देखकर नदी में पनडुब्बी डुबो रहे माफिया के दो युवक नदी के दूसरी पार थे। दूसरी पार से ही माफिया के दोनों युवक भागने लगे। ऊमरी थाना प्रभारी दीपेंद्र यादव ने उन्हें रुकने के लिए कहा। भागते हुए दोनों युवकों ने कहा तुम हमारा कुछ नहीं कर पाओगे। थाना प्रभारी ने कहा फिर भाग क्यों रहे हो रुको? इस दौरान दोनों युवक भाग गए।

नदी किनारे माफिया के निगरानी का इंतजामः

सिंध नदी से रेत खोदने के लिए खनन माफिया के लोगों ने पूरी तरह से बेखौफ होकर इंतजाम किया था। नदी में पुल से नजर आती पनडुब्बी डाली गईं थीं। इतना ही नहीं, नदी किनारे रेत उत्खनन की निगरानी के लिए माफिया के लोगों ने राउठी बनाई हुई थी। इसी झोपड़ीनुमां राउठी में माफिया के लोग रात दिन बंदूकों के बल पर पहरेदारी करते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags