भिंड, नईदुनिया प्रतिनिधि। भिंड के रौन थाना क्षेत्र के इंदुर्खी गांव में अपने दोस्तों के साथ पार्टी करने गए दो सगे भाइयों की शनिवार को मौत हो गई थी। रिश्तेदारों का कहना था कि 45 वर्षीय नरेंद्र पुत्र रामभरोसे अपने दोनों बेटों की मौत की खबर बर्दाश्त नहीं कर सके। इस वजह से मृतक के पिता ने शराब पी ली। रविवार की सुबह मृतक के पिता की तबीयत बिगड़ने लगी। हालत अधिक बिगड़ने पर उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से रविवार की दोपहर उनकी गंभीर हालत को देखते हुए डाक्टरों ने ग्वालियर रेफर कर दिया।

यहां बता दें, रौन थाना क्षेत्र के इंदुर्खी गांव निवासी नरेंद्र जाटव के बेटे 25 वर्षीय मनीष जाटव और 22 वर्षीय छोटू जाटव ने शुक्रवार देर रात अपने साथी छोटे पुत्र रमेश सिंह जाटव, शिव सिंह जाटव के साथ पार्टी की थी। बताया गया है कि दाल टिक्कर के साथ-साथ शराब का सेवन भी किया गया। शनिवार सुबह चार बजे मनीष, छोटू और शिव सिंह की तबीयत अचानक से ज्यादा बिगड़ गई। पिता नरेंद्र सिंह जाटव इन्हें इलाज के लिए लेकर दौड़े, लेकिन रास्ते में ही दोनों भाइयों ने एक-एक कर दम तोड़ दिया, उधर शिव सिंह को आंखों से दिखना बंद हो गया और तबीयत भी बिगड़ गई। इससे उसे प्राथमिक इलाज के बाद ग्वालियर रेफर किया गया है। ग्वालियर में शिव सिंह का इलाज किया जा रहा है। इनकी पार्टी में शामिल छोटे पुत्र रमेश सिंह जाटव को पुलिस ने पूछताछ के लिए थाने बुलाया है। वहीं अब मृतक के पिता की तबीयत बिगड़ने का मामाल सामने आया है। रौन थाना टीआइ उदयभान सिंह यादव का कहना है कि दोनों भाइयों की कुछ चीज खाने से मौत हुई है। मृतक युवकों के पिता के सामने डाक्टर ने बताया था कि सूंघकर देख लो, शराब की गंध नहीं आई है।

पिता बोले- घबराहट और आंखों से दिखना कम हो रहा: मृतकों के पिता नरेंद्र जाटव का एक वीडियाे वायरल हो रहा है। जिसमें वह कह रहे हैं कि मेरे बेटे किसी पार्टी में नहीं गए थे, बल्कि ईंट भट्टे पर काम करने गए थे। वहीं से शराब पीकर आए थे। मैंने भी वही शराब पी ली। इस वजह से मुझे घबराहट होना शुरू हो गई। साथ ही मुझे आंखों से कम दिखाई दे रहा है। मृतक के रिश्तेदार भिंड में किसी ईंट भट्टे पर मृतकाें द्वारा शराब पीकर आने की बात कही जा रही है। वहीं पुलिस मृतकों के शराब पीने के मामले से साफ इनकार कर रही है।

वर्जन-

नरेंद्र की पत्नी का कहना है कि उन्होंने 13 जनवरी को शराब पी थी। बेटों की मौत का गम वह बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं। इस वजह से उन्हें रविवार की सुबह घबराहट शुरू हो गई। जिसके चलते स्वजन उन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल लेकर पहुंचे थे। इस मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही कुछ स्पष्ट हो सकेगा।

उदयभान सिंह यादव, टीआइ रौन

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local