Bhind Crime News: भिंड (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मेहगांव थाना पुलिस ने साइबर सेल टीम के साथ मिलकर भिंड से हथियारों की खेप लेकर गुजरात के जूनागढ़ जा रहे कार सवार तीन तस्करों को गिरफ्तार किया है। तस्करों से 11 कट्टा, पांच देसी पिस्टल, 40 कारतूस 12 बोर और 20 कारतूस 315 बोर के जब्त किए हैं। मुख्य तस्कर पर जूनागढ़ के विभिन्ना थानों में हत्या, हत्या प्रयास, लूट, हथियार तस्कर और शराब तस्करी के 18 प्रकरण दर्ज हैं। तस्करों को ग्वालियर-इटावा नेशनल हाइवे स्थित मेहगांव कृषि मंडी के पास रविवार सुबह 11.30 बजे दबोचा है।

पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी शैलेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि सूचना मिली कि दो-तीन दिन से जिले में गुजरात से कुछ लोग कार क्रमांक जीजे 11 एस 9802 से हथियार लेने के लिए भिंड में घूम रहे हैं। यह तस्कर ग्वालियर में ठहरे हुए हैं। एसपी ने तस्करों को पकड़ने के लिए मेहगांव एसडीओपी आरकेएस राठौर, टीआइ वरुण तिवारी को अलर्ट किया। पुलिस सूचना के बाद से ही तस्करों पर नजर रख रही थी। इस दौरान तस्कर ग्वालियर से दो-तीन बार भिंड में एमजेएस कालेज तक आए और वापस चले गए।

ऐसे पकड़े गए हथियार तस्कर -

एसपी चौहान ने बताया कि नए साल की सुबह सूचना मिली कि गुजरात से आए तस्कर आज हथियारों की खेप लेकर वापस जाने वाले हैं। करीब 11.30 बजे गुजरात नंबर की कार भिंड की तरफ से आती हुई दिखाई दी। पुलिस को देखकर तस्करों ने करीब 200 मीटर दूर कार रोक ली और बैग लेकर उतरने लगे। लेकिन पहले से अलर्ट फोर्स ने तीन युवकों को पकड़ लिया। बैग की तलाशी लेने पर एक बैग में 11 कट्टे मिले। जबकि बैग में पांच पिस्टल मिलीं। तीसरे बैग में 12 बोर के 40 कारतूस और 315 बोर के 20 कारतूस मिले। पूछताछ में तस्करों ने अपने नाम 27 वर्षीय सोहिल मियां कादरी पुत्र सादिक मियां, 27 वर्षीय अजीम सांध पुत्र अल्लाह रक्खा भाई निवासी रावलवास एरिया मील के सामने मनावदर जूनागढ़ और 26 वर्षीय पारस भाई पुरोहित पुत्र चंद्रेश भाई पुरोहित निवासी जोशीपुरा श्रीनाथ नगर जूनागढ़ बताया।

10 हजार का कट्टा 25 हजार और पिस्टल 70 से 90 हजार रुपये में बेचते -

मुख्य तस्कर सोहित मियां कादरी ने बताया कि जूनागढ़ जेल में बंद के दौरान उसकी पहचान भिंड के दो लोगों हुई थी। तब उन्होंने कहा था कि भिंड में हथियार सस्ते मिल जाते हैं। वह दो बाद पहले भी हथियार की खेप ला चुका है। भिंड में उसे 315 और 12 बोर का कट्टा 10 से 12 हजार में मिल जाता है। जिसे गुजरात में 25 से 30 हजार रुपये में बेच देते हैं। जबकि 20 से 25 हजार में मिलने वाली देसी पिस्टल 70 से 90 हजार में बेच देते हैं। एसपी के मुताबिक सोहिल पर जूनागढ़ में करीब 18 प्रकरण दर्ज हैं। कार्रवाई के दौरान मेहगांव टीआइ वरुण तिवारी, एसआइ हरजेंद्र सिंह चौहान, परशुराम अहिरवार, एएसआइ अजय गौतम, हवलदार प्रदीप पचौरी, जितेंद्र, आरक्षक पदमसिंह, प्रदीप तोमर, मायाराम, साइबर सैल से एसआइ दीपेंद्र यादव, शिवप्रतापसिंह राजावत, वैभव तोमर, एएसआइ सत्यवीरसिंह, हवलदार प्रमोद पाराशर, महेश कुमार, सतेंद्र यादव, आरक्षक आनंद दीक्षित आदि के साथ मिलकर मेहगांव में गल्ला मंडी के पास चेकिंग लगा दी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close