Bhind Cyber ​​Fraud News: भिंड, नईदुनिया प्रतिनिधि। बीएलओ (बूथ लेवल आफिसर) को 2500 रुपये मानदेय देने का लालच देकर सायबर ठग ने मोबाइल में 'बीएलओ एनी डेस्क' एप डाउनलोड करवाया। एप डाउनलोड होते ही मोबाइल का कंट्रोल ठग के पास पहुंच गया। ठग ने चार बार में पांच-पांच हजार कर खाते से 20 हजार रुपये उड़ा दिए। ठगी का मामला सामने आने के बाद एसपी मनोज कुमार सिंह ने कलेक्टर सतीश कुमार एस से बात कर जिले के 1480 बीएलओ को मैसेज करवाए हैं कि किसी भी अनजान के कहने से मोबाइल में कोई एप डाउनलोड नहीं करें।

सुबह 11 बजे आया ठग का कालः गोरमी के शिक्षक गिरंद सिंह यादव सुकांड नंबर-दो बूथ पर बीएलओ हैं। मंगलवार को सुबह 11 बजे वे स्कूल में थे। उनके पास ठग का फोन आया। फोन करने वाले ने अपना नाम पंकज जैन बताकर कहा निर्वाचन कार्यालय से बोल रहा हूं। गिरंद से कहा गया कि आपका 25 सौ रुपये मानदेय आया है। आप मोबाइल में प्ले स्टोर से बीएलओ एनी डेस्क एप डाउनलोड कर लो। फोन करने वाले ने कहा आप अपने स्कूल में किसी दूसरे के फोन से मुझसे बात करते रहें और अपने मोबाइल में एप डाउनलोड कर लें। प्रोसेस बताता रहूंगा। श्री यादव ने अपने हेडमास्टर महिपाल शर्मा से मोबाइल मांग लिया। हेडमास्टर के मोबाइल से ठग से बात करते रहे और अपने मोबाइल में एप डाउनलोड कर लिया। शिक्षक श्री यादव ने ठग को निर्वाचन कार्यालय का मानकर उसके कहने पर एप में अपना आधार नंबर, एटीएम कार्ड के चार अंक सहित तमाम गोपनीय जानकारी आनलाइन भर दी। जानकारी पहुंचते ही ठग ने बीएलओ श्री यादव के मोबाइल का कंट्रोल अपने पास ले लिया। ठग ने चार बार में अकाउंट से 20 हजार उड़ा दिए। बीएलओ ने वारदात के बारे में हेडमास्टर को बताया। हेडमास्टर ने एसपी मनोज कुमार सिंह को फोन कर वारदात के बारे में बताया।

दूसरे बीएलओ के पास भी ठग ने फोन कियाः श्री यादव के अकाउंट से 20 हजार रुपये की रकम उड़ाने के बाद ठग ने सुकांड नंबर-तीन के बीएलओ रामसिया शर्मा को फोन किया। उन्हें भी बताया कि निर्वाचन से पंकज जैन बोल रहा है। 25 सौ रुपये मानदेय देना है। इसके लिए एप डाउनलोड कर लीजिए। श्री शर्मा को कुछ देर पहले बीएलओ गिरंद सिंह यादव के साथ हुई ठगी के बारे में मालूम था। इसलिए उन्होंने एप डाउनलोड नहीं किया। एसपी से शिकायत हुई तो पड़ताल में सामने आया कि पिछले एक सप्ताह से जिले के अलग-अलग हिस्सों के बीएलओ के पास ठग का काल आ रहा है।

सभी बीएलओ को अलर्ट रहने के लिए कहाः निर्वाचन कार्य के लिए जिले में 1480 बीएलओ हैं। निर्वाचन कार्य करने के एवज में बीएलओ को पांच सौ रुपये प्रतिमाह अलग से मानदेय मिलता है। इसी तरह से सुपरवाइजर को भी मिलता है। यह पैसा बीएलओ को एक साथ नहीं मिलता है। यही वजह है कि जब ठग ने श्री यादव के पास काल कर बताया कि 25 सौ रुपये मानदेय भेजना है तो वो झांसे में आ गए। इसी का फायदा उठाकर ठग ने खाते से 20 हजार उड़ा दिए। निर्वाचन कार्यालय की ओर से सभी बीएलओ काे कहा गया है इस तरह का कोई एप डाउनलोड नहीं करवाया जाता है, जो भी जानकारी मांगी जाएगी वह एसडीएम के माध्यम से मांगी जाएगी।

वर्जन-

सायबर सेल को पड़ताल में लगाया है। प्रारंभिक पड़ताल में ठगी करने वाले के मोबाइल की लोकेशन बिहार के गया में मिली है। सभी बीएलओ को मैसेज कर बताया गया है कि इस तरह के कोई भी एप अपने मोबाइल में डाउनलोड नहीं करें।

मनोज कुमार सिंह, एसपी, भिंड

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags