-ड्यूटी के दौरान अचानक बिगड़ी थी तबियत, तिरंगे में लिपटा शव घर पहुंचा

भिंड(नईदुनिया प्रतिनिधि) केदारनाथ में पदस्थ सीरआपीएफ के जवान मोहर सिंह तोमर का निधन हो गया। ड्यूटी के दौरान तबियत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां उनकी मौत हो गई। रविवार की सुबह तिरंगे में लिपटा हुआ शव लेकर सेना की टुकडी अटेर तहसील के रोहंदा गांव पहुंची।

जानकारी के अनुसार 47 वर्षीय मोहर सिंह तोमर सीरपीएफ में अपनी सेवाएं दे रहे थे। कुछ दिन पहले ही उनकी ड्यूटी केदारनाथ में लगाई गई थी। ड्यूटी के दौरान उनकी अचानक से तबियत बिगड़ गई। जिसके चलते उन्हें शनिवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उन्होंने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। जिसकी सूचना सेना की ओर से उनके स्वजन को दी गई। बता दें कि वर्ष 1993 में मोहर सिंह सीआरपीएफ में भर्ती हुए थे। उनके दो बेटे और एक बेटी है। मोहर सिंह के दूसरे नंबर का बेटा जितेंद्र सिंह भी सेना में सेवाएं दे रहा है। वह सेना मेें आइटीबैरी में पदस्थ है। रविवार की सुबह सेना की टुकडी उनका पार्थिक शरीर लेकर उनके पैतृक गांव अटेर के रोहंदा गांव पहुंची। तिरंगे में लिपटे हुए जवान के शव को देखकर गांव के हर व्यक्ति की आंखें भर आईं। वहीं सैनिक सम्मान के साथ उनकी अंत्येष्टि की गई।

स्कूलों में संबोधन कार्यकम एक अगस्त को

स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूर्ण होने पर राज्य शासन द्वारा विभिन्न स्तरों पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाने के निर्देश दिए गए हैं। इस संदर्थ में एक अगस्त को अपने-अपने स्कूल सभागृह में शिक्षक एवं विद्यार्थियों के द्वारा भारत माता वंदन एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के सम्मान में 45 मिनट का एक संबोधन कार्यक्रम कराए जाने के निर्देश आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय ने दिए हैं। इस कार्यक्रम में समाज के प्रमुख नागरिक, विश्वविद्यालय, अन्य शैक्षिक संस्थाओं के प्राचार्य, विभागों के वरिष्ठ अधिकारी, मप्र शिक्षक संघ के सदस्यों को संबोधन के लिए आमंत्रित किया जा सकता है। देश के स्वाधीनता संग्राम के नायक रानी लक्ष्मीबाई, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, तात्या टोपे, गांधीजी, सुभाषचंद्र बोस सहित अन्य जिनके विषय में पाठ्यपुस्तकों में उल्लेख है, उनके अतिरिक्त प्रदेश को विभिन्न संभागों एवं जिलों स्वतंत्रता संघर्ष की कहानियां बताई जाएं। जिससे विद्यार्थियों के ज्ञान में बढोत्तरी हो सके। इस कार्यक्रम में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिवार को आमंत्रित भी किया जा सकता है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close