रौन क्षेत्र के बौहारा में संचालित शासकीय प्राथमिक स्कूल का मामला

Bhind Education News:रौन(नईदुनिया न्यूज)। शासकीय स्कूलों की मानिटरिंग में बरती जा रही लापरवाही की वजह से स्कूलों में पदस्थ शिक्षक मनमर्जी से स्कूल आते और जाते हैं। ऐसा ही एक मामला रौन क्षेत्र के बौहारा गांव में संचालित शासकीय बालक-कन्या विद्यालय का सामने आया है। सोमवार की सुबह 11.30 बजे तक स्कूल के गेट पर ताला पड़ा हुआ था और विद्यार्थी स्कूल परिसर में खड़े होकर शिक्षकों के आने का इंतजार कर रहे थे।

सोमवार की सुबह 11.30 बजे तक स्कूल के गेट पर ताला पड़ा हुआ था। जब इसकी शिकायत बीईओ करन सिंह से की गई तो आनन-फानन में स्कूल में पदस्थ शिक्षक स्कूल पहुंच गए। साथ ही उन्होंने स्कूल खोल लिया। स्कूल खुलने के बाद स्कूल का निरीक्षण करने के लिए बाईओ भी स्कूल पहुंचे। बीईओ हाजिरी रजिस्टर को चेक किया। हाजिरी रजिस्टर में कुछ शिक्षकों के दो-दो दिन पहले सिग्नेचर को देखकर उन्होंने इस रजिस्टर को बंद कर दिया। साथ ही इस मामले की जांच कर कार्रवाई करने की बात कही। बौहारा निवासी राहुल सिंह, सूरज शर्मा का कहना था कि यह स्कूल न तो समय खुलता है और न ही समय पर बंद होता है। स्कूल में पदस्थ शिक्षक दोपहर दो बजे स्कूल बंद करके चले जाते हैं।

टॉयलेट में फैली हुई थी गंदगी

स्कूल परिसर में बने टॉयलेट में शराब की खाली बोतल और गंदगी के ढेर लगे हुए थे। इसके साथ ही स्कूल परिसर में जगह-जगह गंदगी के ढेर लगे हुए थे। स्थानीय ग्रामीणों का कहना था कि स्कूल की साफ-सफाई को लेकर यहां पदस्थ शिक्षकों द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

-हाजिरी रजिस्टर पर दो दिन पहले के हस्ताक्षर करने के संबंध में बीईओ से चर्चा की जाएगी। साथ ही इस मामले की जांच कर दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

हरिभुवन सिंह तोमर, डीईओ

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local