ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। भिंड नगरपालिका के अध्यक्ष पद पर भाजपा का कब्जा हो गया है। भाजपा की वर्षा बाल्मीकि ने कांग्रेस की सुनीता कौशल को 8 मतों से हराया। वर्षा बाल्मीकि को 23 मत मिले और कांग्रेस की सुनीता कौशल को 15 मत मिले। एक मत खराब हो गया। इसके साथ ही आलमपुर नगरपरिषद में मेहताब सिंह कौरव को निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया। आलमपुर में उपाध्यक्ष पर शारदा तीतविलासी को उपाध्यक्ष बनाया गया है।

भिंड नगरपालिका अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया जारी है। दोनों ही दलों ने अपने अपने प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कर दी है। इन प्रत्याशियों ने अपने अपने नामांकन भी जमा करा दिए। इसी दौरान विधायक संजीव सिंह व पूर्व विधायक नरेंद्र सिंह के बीच में नोकझोंक हो गई। इसके बाद दोनों ही नेताओं के समर्थकों के बीच में जमकर नारेबाजी हुई और हंगामा हुआ। इसके बाद मौके पर पुलिस को हस्तक्षेप कर मामले को शांति करनी पड़ी।

भिंड नगरपालिका अध्यक्ष पद के लिए भाजपा ने वार्ड क्रमांक 26 की पार्षद वर्षा बालमीकि के लिए अध्यक्ष पद के लिए मेंडेट दिया वहीं कांग्रेस ने सुनीता कौशल पर दांव लगाया। यहां बता दें कि नगरपालिका के 39 वार्डों में 15 पार्षद बीजेपी के, 12 कांग्रेस के व 4 बसपा के, 8 निर्दलीय पार्षद हैं। ऐसे में निर्दलीय पार्षदों की चुनाव में भूमिका अधिक महत्वपूर्ण हो गई है।

पूर्व व वर्तमान विधायकों के बीच नोकझोंक

चुनाव स्थल पर विधायक संजीव सिंह व पूर्व विधायक नरेंद्र सिंह भी अपने अपने समर्थकों के साथ मौजूद थे। किसी बात पर दोनों के बीच में नोकझोंक होने लगी। इससे वहां का माहौल गर्म हो गया। दोनों ही नेताओं के समर्थकों ने एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी करना शुरू कर दिया। हालांकि मौके पर पर्याप्त पुलिस बलतैनात किया गया था। लेकिन मौके की नजाकत को देखते हुए पुलिस अफसरों ने मौके पर अतिरिक्त पुलिस बल बुला लिया। पुलिस ने मौके पर दोनों ही नेताओ के समर्थकों को शांत किया और स्थति को नियंत्रित किया। बताया जाता है कि दोनों ही नेता अपने अपने उम्मीदवारों को लेकर आमने सामने आए थे। इसी को लेकर विवाद की स्थति बनी। हालांकि पुलिस अफसरों कर्मचारियों ने समझदारी से काम लिया और स्थति को संभाल लिया।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close