भिंड।(नईदुनिया प्रतिनिधि)। भगवान महावीर स्वामी हम सब के आदर्श हैं, जिनके विचार और प्रेरणा हमें आध्यात्मिकता की ओर ले जाती है। जिनके जियो और जीने का संदेश से आज हमें प्रेरणा मिल रही है। हम उनके इस सिद्धांतों को अंतिम छोर तक के व्यक्ति तक पहुंचाने का कार्य करें। ताकि जैन समाज ही नहीं सर्व समाज को भी भगवान महावीर स्वामी का संदेश प्राप्त हो और उनकी धार्मिक भावनाएं हम सब से जुड़े रहें। यह बात शनिवार को प्रदेश सरकार में नगरीय प्रशासन आवास राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया ने जैन समाज मंदिर में आयोजित सकल दिवंगत जैन द्वारा मुकुट सप्तमी पर देवाधिदेव मूलनायक 1008 पारसनाथ भगवान का निर्वाण लाडू महोत्सव कार्यक्रम में जनसमूह को संबोधित करते हुए व्यक्त करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि स्वयं पर विजय प्राप्त कर लेता है, उसे आनंद की प्राप्ति होती है। आपकी आत्मा से परे कोई दुश्मन नहीं है। असली दुश्मन स्वयं के भीतर रहते हैं, वो शत्रु हैं क्रोध, अहंकार, लालच, लगाव और नफरत। एक लाख शत्रुओं पर जीत हासिल करने के बजाय स्वयं पर विजय प्राप्त करना बेहतर है। राज्यमंत्री भदौरिया ने कहा कि इसके साथ ही उन्होंने न सिर्फ लोगों को मानवता का पाठ पढ़ाया बल्कि जीवों पर दया करना, एक दूसरे से प्रेम करना, परोपकार करना भी सिखाया। अहिंसा को सबसे उच्चतम गुण बताने वाले महावीर स्वामी का पूरा जीवन प्रेरणा स्रोत हैं। उन्होंने कहा कि वही जो भी व्यक्ति महावीर स्वामी के महान विचारों का अनुसरण करता है और ईमानदारी से इन्हें अपने जीवन में अपनाता है वह निश्चित ही अपनी जिंदगी में सफलता हासिल करता है। राज्यमंत्री भदौरिया ने 1008 पारसनाथ कल्याण मंदिर स्रोत मंडल विधान कार्यक्रम में देश की शांति सद्भावना के लिए भगवान महावीर स्वामी से पूजा अर्चना कर प्रार्थना की। इस दौरान कार्यक्रम आयोजकों ने नारियल भेंट कर उन्हें सम्मानित किया। इस दौरान राजकुमार जैन सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close