- परिवहन विभाग ने जारी किए निर्देश, हादसों को रोकने विशेष रूप से रखी जाएगी नजर

फोटो सहित क्रमांक 2

भिंड। नईदुनिया प्रतिनिधि

बिना लाइसेंस के ट्रैक्टर चलाने वालों के खिलाफ अब कार्रवाई की जाएगी। जिले में ट्रैक्टर ड्राइवरों की लापरवाही से दुर्घटनाएं अधिक हो रही हैं और ड्राइवरों के पास लाइसेंस भी नहीं रहते हैं। ऐसे में चिन्हित कर बिना लाइसेंस ट्रैक्टर चलाने वालों के खिलाफ वैधानिक कार्रवाई होगी। यह निर्देश परिवहन विभाग ने जारी किए हैं।

इसमें कहा है कि शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले ट्रैक्टर-टॉली के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई की जाए। शहरी की तुलना में ग्रामीण इलाकों में सड़क दुर्घटना की संख्या और उससे होने वाली मृतकों की संख्या में वृद्धि हुई है। बारिश के मौसम में नेशनल आई स्टेट हाइवे और अन्य मार्गों पर बेसहारा मवेशियों के प्रवेश पर रोकथाम के लिए आवश्यक कार्रवाई करने को भी कहा गया है। मवेशियों पर रोक लगाने के लिए ट्रैफिक पुलिस नगरीय निकायों की सहायता लेगी, जिसमें नपा कर्मचारी की मदद से शहर में घुसे बेसहारा मवेशियों के कारण भी दुर्घटनाएं होती हैं, सबसे ज्याद बाइक सवार चपेट में आते हैं। रात में सड़क के बीच में बैठे मवेशी नजर नहीं आते हैं। जिससे बाइक सवार इनसे टकरा जाते हैं।

गलत दिशा और ओवरलोड पर भी कार्रवाई होगी :

गलत दिशा एवं सड़कों पर लापरवाही एवं तेज गति से वाहन चलाने वाले वाहन चालकों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। माल वाहन में यात्रियों का परिवहन करने वाले ड्राइवर ओवरलोड कर वाहन चलाते हैं। यह सड़क दुर्घटना एवं उनकी मृत्यु के प्रमुख कारण बनते हैं। इसके खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

7 माह में 580 हादसों में 90 ट्रैक्टरों से हुए :

आमतौर पर शादी-ब्याह या फिर किसी भी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए ग्रामीण क्षेत्र में ट्रैक्टर-ट्रॉली का उपयोग करते हैं। ड्राइवर भी सवारियों को ट्रॉली में बैठाने के बाद स्पीड से भगाते हैं। ऐसे में सबसे ज्यादा हादसे होते हैं। 7 माह में 580 हादसे हुए हैं। इसमें 90 से ज्यादास हादसे ट्रैक्टर-ट्रॉली से हुए हैं। जिसमें सबसे अधिक मौत हुई हैं। इसलिए न सिर्फ ड्राइविंग लाइसेंस देखा जाएगा, बल्कि सवारी बैठी मिलने पर ट्रैफिक पुलिस ट्रैक्टर-ट्रॉली को ही जब्त करेगी।

वर्जन :

लोडिंग वाहन या ट्रैक्टर-ट्रॉली में यदि कोई सवारियां बैठाए पकड़ा जाता है तो उस पर हम चलानी कार्रवाई कर रहे हैं।

नीरज शर्मा, ट्रैफिक प्रभारी भिंड