मेहगांव। नईदुनिया न्यूज

2 अक्टूबर से सरकार द्वारा प्लास्टिक से होने वाले नुकसान से बचने के लिए सिंगल यूज प्लास्टिक से बने ऐसे उत्पाद जिनका दोबारा इस्तेमाल नहीं किया जा सकता हो। ऐसी सामान का उपयोग होने से रोकें। इसलिए सिंगल यूज प्लास्टिक के बहिष्कार का अभियान मेहगांव में जोर पकड़ रहा है। साथ ही पॉलीथिन का उपयोग करने से पर्यावरण असुरक्षित होता है। यह बात मेहगांव कस्बे में जन शक्ति विकास परिषद के द्वारा सब्जी मंडी में जाकर दुकानदार और ग्राहकों को कपड़े के थैले बांटे हुए शिवम चौधरी ने कही।

पॉलीथिन से बेसहारा मवेशियों की जान को खतरा

मेहगांव में जन शक्ति विकास परिषद ने सब्जी में जाकर दुकानदार और ग्राहकों को कपड़े के थैले बांटे हुए लोगों को बताया कि इस प्लास्टिक की पॉलीथिन से व्यक्ति, पर्यायवरण को नहीं नुकसान नहीं बल्कि बेसहारा मवेशियों की जान को खतरा है। क्योंकि व्यक्ति बेसहारा मवेशी अक्सर कर भूखे रहने की वजह से पॉलीथिन खाते है। इससे वह उनके पेट में जाकर जम जाती है। इसी वजह से बेसहारा मवेशी की आए दिन मौत हो रही है।

क्या-क्या आता है सिंगल यूज प्लास्टिक में

सिंगल यूज प्लास्टिक में प्लास्टिक बैग पॉलीथिन, प्लास्टिक की बोतलें, कप, प्लेट, फूड पैकेजिंग में काम आने वाले प्लास्टिक, गिफ्ट रैपर सहित अन्य प्लास्टिक जिसे एक बार ही काम लिया जाता है। यह सामान सिंगल यूज प्लास्टिक में आता है। इसमें से सरकार के द्वारा पॉलीथिन, कप, प्लेट, बोतल के अलावा अन्य प्लास्टिक के सामान को बंद कर दिया है।

लोगों को जागरूक होने की सलाह दी

जन शक्ति विकास परिषद के कार्यकर्ताओं ने लोगों को प्लास्टिक के प्रभाव से होने वाली बीमारियों एवं पर्यावरण प्रदूषण के बारे में लोगों को जागरूक करने की सलाह दी है। परिषद के कार्यकर्ताओं ने लोगों को बताया कि प्लास्टिक की पॉलीथिन से अपना वातावरण प्रदूषण हो रहा था। इसके लिए प्लास्टिक उपयोग पर पाबंदी ही केवल एक मात्र उपाए है। इससे वातावरण के अलावा अन्य चीजों को प्रदुषण से राहत मिल सकेंगी। इस मौके पर गुड्डू तोमर, मनीष शिवहरे, विष्णु नारौलिया, गौरव पुरोहित, शिवम सोनी, सचिन जैन, हर्ष कुशवाह, श्यामवीर प्रजापति और अशोक प्रजापति के अलावा अन्य लोग ने मिलकर सब्जी मंडी में दुकानदार और ग्राहकों को कपड़े के थैले बांटे है।

फोटो सहित क्रमांक 10

Posted By: Nai Dunia News Network